Category - poems


प्रेम रतन धन पायो
सर्दी को मौसम आयो
दो दिन मे एक बार नहायो
गरम पानी से नहायो
स्वेटर पहन कर घर के बाहर जायो
खूब गज़क मूफली खायो
रजाई के बाहर मत आयो
भूल मत जाना मे कांई समझायो
वरना सर्दी लग जाएगी भायो
😝😝😝😝



Explore Funny Jokes poems

*शूटिंग मदरसों की हो रही थी,*

*पिक्चर ‘बाबा’ की रिलीज़ हो गई*

4 बीवियां मुसलमानो में ढूंढते रहे,

हजारों दासियाँ आश्रम से निकलती रही !

धूल चेहरे पर थी,
तुम आईने को पोछते रहे,

आतंकी *आश्रम* में थे,
तुम *मदरसे* में ढूंढते रहे !



Explore Interesting SMS poems

ट्विंकल ट्विंकल लिटिल स्टार ।।
😜😜
तेरी गर्लफ्रेंड गयी बाजार ।।
😜😜
उसको मिल गया दूसरा यार ।।
😜😜
उसके साथ वो हो गयी फरार ।।
😜😜
अब तू बैठ केे मक्खी मार ।।
😜😜
क्योंकि मै ही था वो कमीना यार
😜😜
HA…HA…HA…HA…….😜😝😛😆😜
ग्रुप किसी का भी हो धमाका हमारा होता है मार्केट में नया आया है भाई जल्दी भेज



Explore Friendship SMS Funny Jokes poems

*ઝરમરતું ભીનું ગુલાબ મુબારક,*
*આભેથી વરસતું વ્હાલ મુબારક,*

*એકબીજાની ધોધમાર યાદ મુબારક,*
*મોસમનો પહેલો વરસાદ મુબારક..!*
☔હેપ્પી મોનસુન⛈



Explore poems

‪💜❥━🌹❥❦❤❦❥🌹━❥💜
*तुजे
❤दिल से जुदा 💏कभी होने 💛नहीं देंगे*

*👋🏻हाथ हमारा💚*

❤ *कभी छोड़ने नहीं देंगे* ❤

💖 *तेरी मुस्कान😇*

*💖ही इतनी 💁🏻‍♂प्यारी 💗हे*

💘 *की हम 💕मर भी जाये*

*पर तुजे 💏रोने नहीं देगे💛*
❤ ❥━💜❥❦🔵❦❥💜━❥❤
💙 ❥━💚❥❦🔴❦❥💚━❥💙



Explore poems Shayari SMS

‪❤ *कौन किसी से क्या लेता है,*
*कौन किसी को क्या देता है*..

🌹 *थोडा सा हँस लेते है* ,
*थोडा सा हँसा देते है*
*दोस्ती मे यही तो होता है* 🌹
😄 *हँसना और हँसाना कोशिश*
*है मेरी* ,
*हर कोई खुश रहे, यह चाहत*
*है मेरी* ,
*भले ही मुझे कोई याद करे*
*या ना करे* ,
*लेकिन हर अपने को याद*
*करना आदत है मेरी*
🌹 🌹



Explore poems Shayari SMS

‪✍🏻🌹☘🌹❦ 💙❦🌹☘🌹✍🏻
*_🍁आपकी कमी से मेरा दिल उदास हैं_*

*_☘पर मुझे तो आपसे मिलने की आस हैं_*

*_🍁जख़्म नहीं पर दर्द का एहसास है_*

*_☘ऐसा लगता है जैसे दिल का एक टुकड़ा आपके पास हैं_*
🌺💫🍃❦⚜⭕⚜❦ 🍃💫🌺
✍🏻 🌻 ☘🌻 💜 🌻☘ 🌻 ✍🏻



Explore poems Shayari SMS

*बचपन का यार*🍃
*जवानी का प्यार*🍃
*बुढ़ापे का बुखार*🍃
*हमेशा दिल में रहते हैं*🍃

*चप्पल का काँटा*🍃
*और दुश्मन का चांटा*🍃
*सीधे दिल में चुभते हैं*🍃

*नोटों की पेटी*🍃
*और घर में बेटी*🍃
*किस्मत से मिलते हैं*🍃

*माँ की डांट-ड़प्पड़*🍃
*और बाप के थप्पड़*🍃
*जीवन की राह सिखाते हैं*🍃

*नाना-नानी का दुलार*🍃
*दादा-दादी का प्यार*🍃
*हमेशा याद आएंगे*🍃

*उम्मीद जंग लगी*🍃
*नाकामी संग लगी*🍃
*बर्बाद कर देते हैं*🍃

*जुये की आदत*🍃
*और शराब की लत*🍃
*कहीं का नहीं छोड़ते*🍃

*खुश रहो सलामत रहो*🍃
*जी भर मुस्कुराओ*🍃

*पत्थरों का नहीं*🍃
*फूलों का घर बनाओ*🍃

*माना के आपका वक़्त कीमती है*🍃
*मगर दो पल बर्बाद कर लीजिये*🍃

*अनमोल तो हम भी बहुत हैं*🍃
*हमें भी कभी याद कर लीजिये*🍃



Explore poems

♡”ફૂલ છું પણ પાંદડા પર
વિશ્વાસ કરું છું

ઝીંદગી છું પણ મોત નો
સ્વીકાર કરું છું,

જીવન માં એકજ ભૂલ
હમેશા કરું છું

લાગણીશીલ છું એટલે
જ બધાને યાદ કરું છું
🇬‌🇴‌🇴‌🇩 ‌🇲‌🇴‌🇷‌🇳‌🇮‌🇳 ‌🇬
*_Have A Nice Day_*☘
😊👍🏻☕



Explore Good Morning SMS poems

😅 🙏रघुपति राघव राजा राम, 😜जेल के अन्दर आशाराम। 😱साधू बन के ऐसे काम, 😪कैदी बन के करो आराम। 😳देख लिये अपना अंजाम, 😁हुए बुढ़ापे में बदनाम। 😡झूटे पाखंडी के नाम, 👪देश का है ये पैगाम। 😇खुद को कहते थे भगवन, ☝पकड़े गये न झंडू बाम। 😜😝😃😀😄😊 😆जो ये मैसेज औरों को भेजे उसको जादू की झप्पी 😀और जो ना भेजे उसे आसाराम बापू की पप्पी 😘😚😘😚😘😚 😄😄😄 Jaldi fwd karo Mkt me Naya hai… 😷 😂



Explore Funny Jokes poems

💞👣💞👣💞👣💞
*कोशिश करो की कोई*
*हम से न रूठे !*
*जिन्दगी में अपनों का*
*साथ न छूटे !*
*रिश्ते कोई भी हो उसे*
*ऐसे निभाओ !*
*कि उस रिश्ते की डोर ज़िन्दगी भर न छूटे*
🌾🌺 *सुप्रभातम्*🌺🌾
🌾🌺 *आपका दिन मंगलमय हो*🌺🌾



Explore Good Morning SMS poems

*DOST*” और *”LOVE”* mein *bohat* बडा “फर्क” hay.
.
*”LOVE”* केहता hay:
अगर* *”TUMHIEN”* kuchh ho *गया* to “MAIN” “JEE” nahi *पाउन्गा*
.
जब की *”DOST”* केहता hay:
*”PAGAL”* मेरे होते *”TUJHY”* कुछ नही ho *sakta.*
.
Sirf apny *”SPECIAL* *दोस्तो”* ko send करे
.
“मेरे” liye to “आप ” *”SPECIAL”*ho.
.
अगर”MAIN” “AAP” k
liye *”SPECIAL”* हु to *”MUJHY”*bhi भेजना



Explore Friendship SMS poems

*हास्य कविता*
😀😀😀😀😀😀😀

अक्ल बाटने लगे विधाता,
लंबी लगी कतारें ।
सभी आदमी खड़े हुए थे,
कहीं नहीं थी नारी ।

सभी नारियाँ कहाँ रह गई,
था ये अचरज भारी ।
पता चला ब्यूटी पार्लर में,
पहुँच गई थी सारी।

मेकअप की थी गहन प्रक्रिया,
एक एक पर भारी ।
बैठी थीं कुछ इंतजार में,
कब आएगी बारी ।

उधर विधाता ने पुरूषों में,
अक्ल बाँट दी सारी ।
ब्यूटी पार्लर से फुर्सत पाकर,
जब पहुँची सब नारी ।

बोर्ड लगा था स्टॉक ख़त्म है,
नहीं अक्ल अब बाकी ।
रोने लगी सभी महिलाएं ,
नींद खुली ब्रह्मा की ।

पूछा कैसा शोर हो रहा है,
ब्रह्मलोक के द्वारे ?
पता चला कि स्टॉक अक्ल का
पुरुष ले गए सारे ।

ब्रह्मा जी ने कहा देवियों ,
बहुत देर कर दी है ।
जितनी भी थी अक्ल वो मैंने,
पुरुषों में भर दी है ।

लगी चीखने महिलाये ,
ये कैसा न्याय तुम्हारा?
कुछ भी करो हमें तो चाहिए,
आधा भाग हमारा ।

पुरुषो में शारीरिक बल है,
हम ठहरी अबलाएं ।
अक्ल हमारे लिए जरुरी ,
निज रक्षा कर पाएं ।

सोचकर दाढ़ी सहलाकर ,
तब बोले ब्रह्मा जी ।
एक वरदान तुम्हे देता हूँ ,
अब हो जाओ राजी ।

थोड़ी सी भी हँसी तुम्हारी ,
रहे पुरुष पर भारी ।
कितना भी वह अक्लमंद हो,
अक्ल जायेगी मारी ।

एक औरत ने तर्क दिया,
मुश्किल बहुत होती है।
हंसने से ज्यादा महिलाये,
जीवन भर रोती है ।

ब्रह्मा बोले यही कार्य तब,
रोना भी कर देगा ।
औरत का रोना भी नर की,
अक्ल हर लेगा ।

एक अधेड़ बोली बाबा,
हंसना रोना नहीं आता ।
झगड़े में है सिद्धहस्त हम,
खूब झगड़ना भाता ।

ब्रह्मा बोले चलो मान ली,
यह भी बात तुम्हारी ।
झगड़े के आगे भी नर की,
अक्ल जायेगी मारी ।

ब्रह्मा बोले सुनो ध्यान से,
अंतिम वचन हमारा ।
तीन शस्त्र अब तुम्हे दिए,
पूरा न्याय हमारा ।

इन अचूक शस्त्रों में भी,
जो मानव नहीं फंसेगा ।निश्चित समझो,
उसका घर नहीं बसेगा ।

कहे कवि मित्र ध्यान से,
सुन लो बात हमारी ।
बिना अक्ल के भी होती है,
नर पर नारी भारी।
😂😂😂😂😂😂



Explore Funny Jokes poems

‪🌞सुबह🌞 की💧ठंडी💧ठंडी💧आपको 👉🙆🏻🙏
✨ *┣━┫α ρ ρ у*
*ℳỖŘŇĮŇĞ*
“ईश्वर के हर फैसले पे खुश रहो”🙏🙆🏻🙏
✅क्योंकि✅
“ईश्वर वो नहीं देता जो आपको
💓अच्छा लगता है💓
✅बल्कि✅
“ईश्वर वो देता हे जो आपके
🌷लिये अच्छा होता है🌷

🌻 *सु-प्रभात* 🌻



Explore Good Morning SMS poems

‪🐾☀🐾
*✍🏻“जीवन में खुशी का अर्थ लड़ाइयाँ लड़ना नहीं,बल्कि उन से बचना है।*
*कुशलतापूर्वक पीछे हटना भी अपने आप में एक जीत है।”*
*🌺क्योकि🌹*
*”अभिमान”की ताकत फरिश्तो को भी”शैतान”बना देती है,और*
*”नम्रता”साधारण व्यक्ति को भी “फ़रिश्ता”बना देतीहै।*
*🌹हँसते रहिये हंसाते रहिये🌹*
*🌹सदा मुस्कुराते रहिये🌹*
*🐚☀🐚*
*🐾स्नेह वंदन🐾*
*🙏🏻सुप्रभात🙏🏻*
*🙏🏻आपका दिन शुभ एवं मंगलमय हो🙏🏻*💐
‪📝।।बहुत सुन्दर सन्देश।।📝

“गीता” मे लिखा है
अगर आपको कोई अच्छा लगता है
तो अच्छा वो नहीं,
बल्कि अच्छे आप हो…..!!
क्योंकि
उसमें अच्छाई देखने वाली
“नजर” आपके पास है…

🌿 ।।।।।शुभ-प्रभात ।।।।।🌿
Good Morning
‪🌿🌹🌷🌞🌿🌹🌷🌞

🌺 *ॐ सुप्रभातम* 🙏🏻 🌺

*जिन्दगी को आसान नहीं……….*
*खुद को मजबूत बनाना पड़ता हैे!*

*सही समय कभी नही आता…….*
*बस समय को सही बनाना पड़ता है !!*

🌅 *सुप्रभात* 🌅
🌻 आज का दिन शुभ हो 🌻
🍃🍂🍃 🍃🍂🍃🍂🍃🍂🍃🍂



Explore Good Morning SMS poems

**** अजय पाठक. ***
*☄तू जिंदगी को जी,*
*उसे समझने की कोशिश ना कर।☄*
*☄चलते वक़्त के साथ तू भी चल,वक्त को बदलने की कोशिश न कर..*☄
*☄दिल खोल कर साँस ले,*
*अंदर ही अंदर घुटने की कोशिश न कर..☄*
*☄कुछ बाते भगवान पर छोड़ दे, सब कुछ खुद सुलझाने की कोशिश न कर….!☄*
🍃🍂🍃💖शुभ प्रभात 💖🍂🍃🍂🍃



Explore Good Morning SMS poems

*‬: 👌 चंद लाइने दोस्त के नाम 👌:-*

“क्यूँ मुश्किलों में साथ देते हैं “दोस्त”
“क्यूँ गम को बाँट लेते हैं “दोस्त”
“न रिश्ता खून का न रिवाज से बंधा है !
“फिर भी ज़िन्दगी भर साथ देते हैं “दोस्त ”

*~ I Love my Friends ~*
💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐



Explore Friendship SMS poems Shayari SMS

*…A lovely poem from Gulzar…*

कुछ हँस के
बोल दिया करो,
कुछ हँस के
टाल दिया करो,
यूँ तो बहुत
परेशानियां है
तुमको भी
मुझको भी,
मगर कुछ फैंसले
वक्त पे डाल दिया करो,
न जाने कल कोई
हंसाने वाला मिले न मिले..
इसलिये आज ही
हसरत निकाल लिया करो !!
समझौता
करना सीखिए..
क्योंकि थोड़ा सा
झुक जाना
किसी रिश्ते को
हमेशा के लिए
तोड़ देने से
बहुत बेहतर है ।।।
किसी के साथ
हँसते-हँसते
उतने ही हक से
रूठना भी आना चाहिए !
अपनो की आँख का
पानी धीरे से
पोंछना आना चाहिए !
रिश्तेदारी और
दोस्ती में
कैसा मान अपमान ?
बस अपनों के
दिल मे रहना
आना चाहिए…!
– गुलज़ार😊



Explore poems

*Kya Khoob Likha Hai*

समंदर सारे शराब होते तो सोचो कितना बवाल होता,
हक़ीक़त सारे ख़्वाब होते तो सोचो कितना बवाल होता..!!

किसी के दिल में क्या छुपा है ये बस ख़ुदा ही जानता है,
दिल अगर बेनक़ाब होते तो सोचो कितना बवाल होता..!!

थी ख़ामोशी हमारी फितरत में तभी तो बरसो निभ गयी लोगो से,
अगर मुँह में हमारे जवाब होते तो सोचो कितना बवाल होता..!!

हम तो अच्छे थे पर लोगो की नज़र में सदा बुरे ही रहे,
कहीं हम सच में ख़राब होते तो सोचो कितना बवाल होता..



next generation KG poem

chatting chatting
yes papa
girlfriend setting
no papa
telling lies
no papa
open your whatsapp
ha ha ha

haso mat latest hai forward karo😜😝



Explore Funny Jokes poems

✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻

*भरोसा खुद पर रखो*
*तो ताकत बन जाती है*
*और दूसरों पर रखो तो*
*कमजोरी बन जाती है…!*
*आप कब सही थे…*
*इसे कोई याद नहीं रखता।*
*लेकिन आप कब गलत थे…*
*इसे सब याद रखते हैं।* 🙏 Good morning 🙏



Explore Good Morning SMS poems

💞👌🏻💞👌🏻💞👌🏻💞👌🏻💞👌🏻 “दुनिया का सबसे अच्छा तोहफा “वक्त” है।
क्योंकी,
जब आप किसीको अपना वक्त देतें हैँ,
तो आप उसे अपनी “जिंदगी” का वह पल देतें हैं,
जो कभी लौटकर नहीं आता…
💞👌🏻💞👌🏻💞👌🏻💞👌🏻💞👌
… 💐💐 good morning 💐💐…



Explore Good Morning SMS poems

*रोने से तो आंसू भी पराये हो जाते हैं,*
*लेकिन मुस्कुराने से…*
*पराये भी अपने हो जाते हैं !*
*मुझे वो रिश्ते पसंद है,*
*जिनमें ” मैं ” नहीं ” हम ” हो !!*
*इंसानियत दिल में होती है, हैसियत में नही,*
*उपरवाला कर्म देखता है, वसीयत नही…*

*_Good morning_*
※══❖▩ஜ ۩۩ ஜ▩❖══



Explore Good Morning SMS poems

*दुनिया का हर शौंक*
*पाला नही जाता;*
*कांच के खिलौनों को*
*उछाला नही जाता;*
*मेहनत करने से मुश्किल*
*हो जाती है आसान;*
*क्योंकि हर काम तक़दीर*
*पर टाला नही जाता।*
🌺 *सुप्रभात जी* 🌺



Explore Good Morning SMS poems

किसी ने शिक्षक से पूछा – क्या करते हो आप ??
शिक्षक का सुन्दर जवाब देखिए-
सुन्दर सुर सजाने को साज बनाता हूँ ।
नौसिखिये परिंदों को बाज बनाता हूँ ।।
चुपचाप सुनता हूँ शिकायतें सबकी ।
तब दुनिया बदलने की आवाज बनाता हूँ ।।
समंदर तो परखता है हौंसले कश्तियों के ।
और मैं डूबती कश्तियों को जहाज बनाता हूँ ।।
बनाए चाहे चांद पे कोई बुर्ज ए खलीफा ।
अरे मैं तो कच्ची ईंटों से ही ताज बनाता हूँ ।।



Explore poems

*Kya Khoob Likha Hai*

समंदर सारे शराब होते तो सोचो कितना बवाल होता,
हक़ीक़त सारे ख़्वाब होते तो सोचो कितना बवाल होता..!!

किसी के दिल में क्या छुपा है ये बस ख़ुदा ही जानता है,
दिल अगर बेनक़ाब होते तो सोचो कितना बवाल होता..!!

थी ख़ामोशी हमारी फितरत में तभी तो बरसो निभ गयी लोगो से,
अगर मुँह में हमारे जवाब होते तो सोचो कितना बवाल होता..!!

हम तो अच्छे थे पर लोगो की नज़र में सदा बुरे ही रहे,
कहीं हम सच में ख़राब होते तो सोचो कितना बवाल होता..



Explore poems

કિંમત બિલકુલ સસ્તી થઇ ગઈ
નોટુમાંથી પસ્તી થઇ ગઈ

પાંચ મિનિટ પીએમ શું બોલ્યા
પબ્લિક સાથે મસ્તી થઇ ગઈ

ડાધીયા કુતરા મ્યાંઉ કરે ને
બિલ્લી સઘળી ભસ્તી થઇ ગઈ

દોલત શોહરત લઈ લીધી ને
વગર વરસાદે કસતી થઇ ગઈ

સો નું બંડલ જેની પાસે
આજ એ મોટી હસ્તી થઇ ગઈ

જેણે જાજા ભેગા કર્યા
અક્કલ એની ખસતી ગઈ

હસ્તી જે મોટી કહેવાતી
આજ એ ટાંટિયા ઘસતી થઇ ગઈ.



Explore poems

पीओके में सीमा पार जाकर सेना की साहसिक कार्रवाही पर कवि की रचना—-

राष्ट्रद्रोह के रावण की सांसो का घोडा ठहर गया
सरहद पार तिरंगा अपना स्वाभिमान से लहर गया

आतंकवाद से लड़ने की शक्ति आई दरबार में
इसीलिए सेना ने मारा एलओसी के पार में

आज सियासत बदल गई है डरते डरते जीने की
उग्रवाद ने नाप देख ली छप्पन इंची सीने की

अरेशरीफों आँख खोलकर समझो जरा इशारों को
राख समझकर अब मत छूना दुबे के अंगारों को

वर्ना घायल रावलपिंडी अपना खुदा पुकारेगी
जब भारत की सेना अबकी अंदर घुसकर मारेगी

लाल रंग के बलिदानों से अजर अमर यह खाकी है
अरे मियां ये ट्रेलर है पूरी पिक्चर तो बाकी है

(सेना के सम्मान में जय हिन्द)।



Explore poems

​*💞चार लाइने  दोस्तों के नाम💞*
*”काश फिर मिलने की वजह मिल जाए!*

*”साथ जितना भी बिताया वो पल मिल जाए!*

*”चलो अपनी अपनी आँखें बंद कर लें!*

*”क्या पता ख़्वाबों में गुज़रा हुआ कल मिल जाए!*

*”मौसम को जो महका दे उसे ‘इत्र’ कहते हैं!*

*”जीवन को जो महका दे उसे ही ‘मित्र’ कहते है!*

*”क्यूँ  मुश्किलों में  साथ  देते  हैं  “दोस्त”*

*”क्यूँ  गम  को  बाँट लेते  हैं “दोस्त”*

*”न  रिश्ता  खून  का  न  रिवाज  से  बंधा  है!*

*”फिर  भी  ज़िन्दगी  भर का साथ  देते  हैं  “दोस्त”।*🙏



Explore Friendship SMS poems

​A poem from Gulzar for all of us… Life ko simple rakhiye! 
कुछ हँस के

     बोल दिया करो,

कुछ हँस के 

      टाल दिया करो,

यूँ तो बहुत 

    परेशानियां है 

तुमको भी 

     मुझको भी,

मगर कुछ फैंसले 

     वक्त पे डाल दिया करो,

न जाने कल कोई 

    हंसाने वाला मिले न मिले..

इसलिये आज ही 

      हसरत निकाल लिया करो !!

 समझौता 

      करना सीखिए..

क्योंकि थोड़ा सा  

      झुक जाना 

 किसी रिश्ते को

         हमेशा के लिए 

तोड़ देने से 

           बहुत बेहतर है ।।।

किसी के साथ

     हँसते-हँसते

 उतने ही हक से 

      रूठना भी आना चाहिए !

अपनो की आँख का

     पानी धीरे से 

पोंछना आना चाहिए !

      रिश्तेदारी और 

 दोस्ती में 

    कैसा मान अपमान ?

बस अपनों के  

     दिल मे रहना 

आना चाहिए…!



​*हास्य कविता*

:mrgreen::mrgreen::mrgreen::mrgreen::mrgreen::mrgreen::mrgreen:
अक्ल बाटने लगे विधाता,

             लंबी लगी कतारें ।

सभी आदमी खड़े हुए थे,

            कहीं नहीं थी नारी ।
सभी नारियाँ कहाँ रह गई,

          था ये अचरज भारी ।

पता चला ब्यूटी पार्लर में,

          पहुँच गई थी सारी।
मेकअप की थी गहन प्रक्रिया,

           एक एक पर भारी ।

बैठी थीं कुछ इंतजार में,

          कब आएगी बारी ।
उधर विधाता ने पुरूषों में,

         अक्ल बाँट दी सारी ।

ब्यूटी पार्लर से फुर्सत पाकर,

        जब पहुँची सब नारी ।
बोर्ड लगा था स्टॉक ख़त्म है,

        नहीं अक्ल अब बाकी ।

रोने लगी सभी महिलाएं ,

        नींद खुली ब्रह्मा की ।
पूछा कैसा शोर हो रहा है,

         ब्रह्मलोक के द्वारे ?

पता चला कि स्टॉक अक्ल का

         पुरुष ले गए सारे ।
ब्रह्मा जी ने कहा देवियों ,

          बहुत देर कर दी है ।

जितनी भी थी अक्ल वो मैंने,

          पुरुषों में भर दी है ।
लगी चीखने महिलाये ,

         ये कैसा न्याय तुम्हारा?

कुछ भी करो हमें तो चाहिए,

          आधा भाग हमारा ।
पुरुषो में शारीरिक बल है,

          हम ठहरी अबलाएं ।

अक्ल हमारे लिए जरुरी ,

         निज रक्षा कर पाएं ।
सोचकर दाढ़ी सहलाकर ,

         तब बोले ब्रह्मा जी ।

एक वरदान तुम्हे देता हूँ ,

         अब हो जाओ राजी ।
थोड़ी सी भी हँसी तुम्हारी ,

         रहे पुरुष पर भारी ।

कितना भी वह अक्लमंद हो,

         अक्ल जायेगी मारी ।
एक औरत ने तर्क दिया,

        मुश्किल बहुत होती है।

हंसने से ज्यादा महिलाये,

        जीवन भर रोती है ।
ब्रह्मा बोले यही कार्य तब,

        रोना भी कर देगा ।

औरत का रोना भी नर की,

        अक्ल हर लेगा ।
एक अधेड़ बोली बाबा,

       हंसना रोना नहीं आता ।

झगड़े में है सिद्धहस्त हम,

       खूब झगड़ना भाता ।
ब्रह्मा बोले चलो मान ली,

       यह भी बात तुम्हारी ।

झगड़े के आगे भी नर की,

       अक्ल जायेगी मारी ।
ब्रह्मा बोले सुनो ध्यान से,

       अंतिम वचन हमारा ।

तीन शस्त्र अब तुम्हे दिए,

       पूरा न्याय हमारा ।
इन अचूक शस्त्रों में भी,

       जो मानव नहीं फंसेगा ।निश्चित समझो, 

       उसका घर नहीं बसेगा ।
कहे कवि मित्र ध्यान से,

       सुन लो बात हमारी ।

बिना अक्ल के भी होती है,

       नर पर नारी भारी।
🤔😇💃👣👓😜:D😂



Explore Funny Jokes poems wife jokes

​भारत का नया गीत
आओ बच्चों तुम्हे दिखायें,

शैतानी शैतान की।

 नेताओं से बहुत दुखी है,

जनता हिन्दुस्तान की।।

 बड़े-बड़े नेता शामिल हैं,

घोटालों की थाली में।

 सूटकेश भर के चलते हैं,

अपने यहाँ दलाली में।।

 देश-धर्म की नहीं है चिंता,

चिन्ता निज सन्तान की।

 नेताओं से बहुत दुखी है,

जनता हिन्दुस्तान की।।

 चोर-लुटेरे भी अब देखो,

सांसद और विधायक हैं।

 सुरा-सुन्दरी के प्रेमी ये,

सचमुच के खलनायक हैं।।

 भिखमंगों में गिनती कर दी,

भारत देश महान की।

 नेताओं से बहुत दुखी है,

जनता हिन्दुस्तान की।।

 जनता के आवंटित धन को,

आधा मन्त्री खाते हैं।

 बाकी में अफसर-ठेकेदार,

मिलकर मौज उड़ाते हैं।।

 लूट-खसोट मचा रखी है,

सरकारी अनुदान की।

 नेताओं से बहुत दुखी है,

जनता हिन्दुस्तान की।।

 थर्ड क्लास अफसर बन जाता,

फर्स्ट क्लास चपरासी है।

 होशियार बच्चों के मन में,

छायी आज उदासी है।।

 गंवार सारे मंत्री बन गये,

मेधावी आज खलासी है।

 आओ बच्चों तुम्हें दिखायें,

शैतानी शैतान की।।

 नेताओं से बहुत दुखी है,.

जनता हिन्दुस्तान की।

✍——————-
🍂🍃🙏🙏🙏🍃🍂



​👩 #ट्विंकल 👩 #ट्विंकल 💑 #लिट्टिल 🌟 #स्टार ।।😧 तेरी #gf 👱 गई #बाज़ार 👻 #उसको मिल 💖 गया #दूसरा #यार।।

💂उसके #साथ वो #हो गई 💃#फरार ।।#अब 🎮 तू #बैठ क 😂े #मक्खी 😜 #मार।। 🙏 #क्योँकि मैं 🐒 ही #था 👮 वो #कमीना 😎 #यार ।।

            



Explore Funny Jokes poems

​😋😂😋बढ़ती महँगाई और मिलावट पर पेश है एक मन को छू लेने वाली कविता😋😂😋
😂ढोल के अंदर पोल मिलेगा आने वाली पीढ़ी को😂

😩सब कुछ डाँवाडोल मिलेगा आने वाली पीढ़ी को😩

😜दानें गिनकर दाल मिलेगी गेहूँ की बस छाल मिलेगी🍛🍳🍛

😜पानी के इंजेक्शन होंगे घोषित रोज इलैकसन होंगे💉💉💉

😜हलबाई हैवान मिलेंगे बिन चीनी मिसठान मिलेंगे🍧🍨🍦

😜चलने वाला सैल मिलेगा मिट्टी का बस तेल मिलेगा💊

😜शीशी मे पेट्रोल मिलेगा आने वाली पीढ़ी को🍾🍾🍾

😜भारी भारी बस्ते होंगे आँसू सबसे सस्ते होंगे🎒

😜बच्चे बौने हो जायेंगें सुएम खिलौने हो जायेंगे👫

🤐जनता गूँगी बहरी होगी बेबस कोर्ट कचहरी होगी🏫

😜गुंडों का संरक्षण होगा संसद में आरक्षण होगा🔫🔪💣

😜फटा फटा भूगोल मिलेगा आने वाली पीढ़ी को🌏

😜प्यासों की भी रैली होगी गंगा बिलकुल मैली होगी🌊

😜कंप्यूटर की माया होगी बेकारी की छाया होगी💻🖥

😜चादर नीचे पडी मिलेगी खटिया सबकी खड़ी मिलेगी🛏🛌

😜बिस्तर सबको गोल मिलेगा आने वाली पीढ़ी को🕳

😜घर घर मे जब फैक्स मिलेगा साँसों पर भी टैक्स लगेगा📠

😝ढोल के अंदर पोल मिलेगा आने वाली पीढ़ी को😝

😘सब कुछ डाँवाडोल मिलेगा आने वाली पीढ़ी को😘



Explore Interesting SMS poems

​*-हरिवंशराय बच्चन की*

_*एक सुंदर कविता …*_
*खवाहिश  नही  मुझे  मशहुर  होने  की।*

*आप  मुझे  पहचानते  हो  बस  इतना  ही  काफी  है।*

*अच्छे  ने  अच्छा  और  बुरे  ने  बुरा  जाना  मुझे।*

*क्यों  की  जीसकी  जीतनी  जरुरत  थी  उसने  उतना  ही  पहचाना  मुझे।*

 *ज़िन्दगी  का  फ़लसफ़ा  भी   कितना  अजीब  है*

*शामें  कटती  नहीं,  और  साल  गुज़रते  चले  जा  रहे  हैं….!!*

*एक  अजीब  सी  दौड़  है  ये  ज़िन्दगी,*

*जीत  जाओ  तो  कई  अपने  पीछे  छूट  जाते  हैं,*

*और  हार  जाओ  तो  अपने  ही  पीछे  छोड़  जाते  हैं।*

*बैठ जाता हूं मिट्टी पे अक्सर…*

*क्योंकि मुझे अपनी औकात अच्छी लगती है..*

*मैंने समंदर से सीखा है जीने का सलीक़ा,*

*चुपचाप से बहना और अपनी मौज में रहना ।।*

*ऐसा नहीं है कि मुझमें कोई ऐब नहीं है पर सच कहता हूँ मुझमे कोई फरेब नहीं है*

*जल जाते हैं मेरे अंदाज़ से मेरे दुश्मन क्यूंकि एक मुद्दत से मैंने*

*न मोहब्बत बदली और न दोस्त बदले .!!.*

*एक घड़ी ख़रीदकर हाथ मे क्या बाँध ली..*

*वक़्त पीछे ही पड़ गया मेरे..!!*

*सोचा था घर बना कर बैठुंगा सुकून से..*

*पर घर की ज़रूरतों ने मुसाफ़िर बना डाला !!!*

*सुकून की बात मत कर ऐ ग़ालिब….*

*बचपन वाला ‘इतवार’ अब नहीं आता |*

*जीवन की भाग-दौड़ में क्यूँ वक़्त के साथ रंगत खो जाती है ?*

*हँसती-खेलती ज़िन्दगी भी आम हो जाती है..*

*एक सवेरा था जब हँस कर उठते थे हम*
*_और_*
*आज कई बार*

*बिना मुस्कुराये ही शाम हो जाती है..*

*कितने दूर निकल गए,*

*रिश्तो को निभाते निभाते..*

*खुद को खो दिया हमने,*

*अपनों को पाते पाते..*

*लोग कहते है हम मुस्कुराते बहोत है,*

*और हम थक गए दर्द छुपाते छुपाते..*

*”खुश हूँ और सबको खुश रखता हूँ,*

*लापरवाह हूँ फिर भी सबकी परवाह करता हूँ..*

*मालूम है कोई मोल नहीं मेरा*

*_फिर भी,_*

*कुछ अनमोल लोगो से रिश्ता रखता हूँ…!*🙏🏻🙏🏻🙏🏻



Explore poems

​ख़ून में तेरे मार्केटिंग

मार्केटिंग में तेरा ख़ून
ऊपर मैनेजर

 नीचे  Customers….
बीच में तेरा जुनून 

रे salesman ……. रे salesman !!



Explore Funny Jokes poems

​🙏रघुपति राघव राजा राम, 

😜जेल के अन्दर आशाराम।

😱साधू बन के ऐसे काम,

😪कैदी बन के करो आराम।

:oops:देख लिये अपना अंजाम,

😁हुए बुढ़ापे में बदनाम।

:evil:झूटे पाखंडी के नाम,

👪देश का है ये पैगाम।

😇खुद को कहते थे भगवन,

☝पकड़े गये न झंडू बाम।

😜😝:D:mrgreen:😄:)

😆जो ये मैसेज औरों को भेजे उसको जादू की झप्पी 

:mrgreen:और जो ना भेजे उसे आसाराम बापू की पप्पी 

😘😚😘😚😘😚p

😄😄😄

Jaldi fwd karo

Mkt me Naya hai…

 😷 😂



Explore Funny Jokes poems

​🌹प्रेम से भरी हुईं आँखें                           

        श्रद्धा से झुका हुआ सर🌹                                  🌹सहयोग करते हुऐ हाथ                      

        सन्मार्ग पर चलते हुए पाँव🌹                  

                  और 

🌹सत्य से जुडी हुई जीभ                   

        ईश्वर को पसंद है🌹 सुप्रभातम                

🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏



Explore Good Morning SMS poems

​सुल्तान फिल्म देखने के बाद हमे लगा कि एक कविता इसी बेस पर लिख ही देनी चाहिए ।

तो लीजिए हाजिर है जनाब 
बेबी को बेस पसंद है ।

शहर की छोरी को फेस पसंद है ।

गाव की छोरी को  भैस पसंद है ।

    दुकानदार को कैश पसंद है ।।

पर हमको तो भारत देश पसंद है ।।
हाँ बेबी को बेस पसंद है ।
बेबी को बेस पसंद है ।

गंजो को केश पसंद है ।

सास बहू मे टेस पसंद है ।

बच्चों को तो नयी ड्रेस पसंद है ।।
हा  बेबी को बेस पसंद है ।
विश्वनाथन आनंद को चेस पसंद है ।

   मार्टीना हिंगिस को पेस पसंद है ।

      मोदी जी को तो विदेश पसंद है ।

पर हमको तो अपना भारत देश पसंद है ।।
हाँ  बेबी को बेस पसंद है ।
बेबी को बेस पसंद है ।

स्मृति ईरानी को बेमतलब का तैश पसंद है।

सपाइयो को उनका उत्तर प्रदेश पसंद है ।

आतंकियो को मोहम्मद ए जैश पसंद है ।।

     पर हमको तो भारत देश पसंद है ।।
हाँ बेबी को बेस पसंद है ।

मोदी जी को रोज नयी नयी ड्रेस पसंद है ।

मायावती जी को तो चुनावी कैश पसंद है ।

सोनिया जी को राहुल का तैश पसंद है।

मुलायम सिंह यादव जी को चुनावी रेस पसंद है ।

पर आजम खाँ को बस अपनी भैस पसंद है ।।
हाँ बेबी को बेस पसंद है ।
विद्यार्थीयो को पेपर का गेस पसंद है ।

एथलीटो को मैंदान मे रेस पसंद है ।

हास्टलरो को भाई बढिया मेस पसंद है ।

   पर हमको तो भारत देश पसंद है ।।

                 रचनाकार :- एक राष्ट्रभक्त



Explore Funny Jokes poems

​               *प्रेम* चाहिये तो

       समर्पण खर्च करना होगा।

            *विश्वास* चाहिये तो

        निष्ठा खर्च करनी होगी।

              *साथ* चाहिये तो

        समय खर्च करना होगा।

            किसने कहा रिश्ते

               मुफ्त मिलते हैं ।

    मुफ्त तो  हवा भी नहीं मिलती

       एक साँस भी तब आती है

    जब एक  साँस छोड़ी जाती है

🙏🙏🙏सुप्रभातम 🙏🙏🙏



Explore Good Morning SMS poems

​यदि कबीर जिन्दा होते तो आजकल के दोहे यह होते:

नयी सदी से मिल रही, दर्द भरी सौगात;

बेटा कहता बाप से, तेरी क्या औकात;

पानी आँखों का मरा, मरी शर्म औ लाज;

कहे बहू अब सास से, घर में मेरा राज;

भाई भी करता नहीं, भाई पर विश्वास;

बहन पराई हो गयी, साली खासमखास;

मंदिर में पूजा करें, घर में करें कलेश;

बापू तो बोझा लगे, पत्थर लगे गणेश;

बचे कहाँ अब शेष हैं, दया, धरम, ईमान;

पत्थर के भगवान हैं, पत्थर दिल इंसान;

पत्थर के भगवान को, लगते छप्पन भोग;

मर जाते फुटपाथ पर, भूखे, प्यासे लोग;

फैला है पाखंड का, अन्धकार सब ओर;

पापी करते जागरण, मचा-मचा कर शोर;

पहन मुखौटा धरम का, करते दिन भर पाप;

भंडारे करते फिरें, घर में भूखा बाप।



​Nice lines by Javed Akhtar Saab.*

_ज़िन्दगी के इस कश्मकश मैं_

_वैसे तो मैं भी काफ़ी बिजी हुँ_ 

_लेकिन वक़्त का बहाना बना कर_

_अपनों को भूल जाना मुझे आज भी नहीं आता !_

_जहाँ यार याद न आए वो तन्हाई किस काम की_

_बिगड़े रिश्ते न बने तो खुदाई किस काम की,_ 

_बेशक अपनी मंज़िल तक जाना है_

_पर जहाँ से अपने ना दिखे_

_वो ऊंचाई किस काम की!!!_



Explore poems

🍁” हमसफर “🍁
सभी  है  मगर …
कोई  साथ  देता है  तो …
कोई  छोड  देता है …..
🍁” रिश्ता  “🍁
कई लोगों  से  होता  है , मगर …
कोई  प्यार  से  निभाता  है  तो …
कोई  नफरत  से  निभाता  है ..
🍁” प्यार  “🍁
सभी  करते  है  मगर …
कोई  दिल  से  करता  है  तो …
कोई  दिमाग  सें  करता  है.                                                                     Good morning 🙂 🍁🍁.                                                               Have a wonderful week ahead 🙂



Explore Good Morning SMS poems

🌺🌻🌺
“दुआ” मिले बड़ो🌛 से..
         “साथ” मिले अपनों💒 से..
“खुशियाँ🎐” मिले जग से..
         “रहमत” मिले रब♨ से..
“प्यार💘” मिले सब से.. 
          यही दुआ है प्रभु🌺 से..
सब खुश💚 रहे आप से और,
           आप खुश रहे🎲 सब से..

       🍃🍃🌹सुप्रभात🌹🍃🍃



Explore Good Morning SMS poems

-Nice line-
मकान जले तो बीमा ले सकते हैं
सपने जले तो क्या किया जाए…

आसमान बरसे तो छाता ले सकते हैं
आँख बरसे तो क्या किया जाए…

शेर दहाड़े तो भाग सकते हैं
अहंकार दहाड़े तो क्या किया जाए…

काँटा छुभे तो निकाल सकते हैं
कोई बात छुभे तो क्या किया जाए…

दर्द हो तो गोली(medicine)ले सकते हैं
वेदना हो तो क्या किया जाये…

एक अच्छा मित्र एक दवा जैसा ही होता है
पर एक अच्छा ग्रुप पुरे मेडिकल स्टोर जैसा होता है…..
         सभी को समर्पित..👣👏



👌👌बहुत बेहतरीन कविता है👌👌

तू जिंदगी को जी, उसे समझने की कोशिश न कर

सुन्दर सपनो के ताने बाने बुन,उसमे उलझने की कोशिश न कर

चलते वक़्त के साथ तू भी चल, उसमे सिमटने की कोशिश न कर

अपने हाथो को फैला, खुल कर साँस ले, अंदर ही अंदर घुटने की कोशिश न कर

मन में चल रहे युद्ध को विराम दे, खामख्वाह खुद से लड़ने की कोशिश न कर

कुछ बाते भगवान् पर छोड़ दे, सब कुछ खुद सुलझाने की कोशिश न कर

जो मिल गया उसी में खुश रह, जो सकून छीन ले वो पाने की कोशिश न कर

रास्ते की सुंदरता का लुत्फ़ उठा, मंजिल पर जल्दी पहुचने की कोशिश न कर….



Explore poems

🌴सबसे छोटी कविता…
.
.
.
.

जिन्दगी एक जंग है,
जबतक बीवी संग है.😝.



Explore Funny Jokes poems

…कभी हँसते हुए छोड़ देती ये जिंदगी…
…कभी रोते हुए छोड़ देती ये जिंदगी…
…न पूर्णविराम सुख में,,,
…न पूर्णविराम दुःख में,,,
…बस जहाँ देखो वहाँ अल्पविराम छोड़ देती है ये जिंदगी..!!!!!!
प्यार की डोर सजाये रखो,
दिल को दिल से मिलाये रखो
क्या लेकर जाना है साथ मे
इस दुनिया से,
मीठे बोल कर रिश्तों को बनाए रखो..! 💐
Good Morning !!



Explore Good Morning SMS poems

सौ गुना बढ़ जाती है खूबसूरती,
महज़ मुस्कराने से,

फिर भी बाज नही आते लोग,
मुँह फुलाने से ।

ज़िन्दगी एक हसीन ख़्वाब है ,
जिसमें जीने की चाहत होनी चाहिये।

ग़म खुद ही ख़ुशी में बदल जायेंगे,
सिर्फ मुस्कुराने की आदत होनी चाहिये।🌹💕
🌹🌹Good night 🌹🌹



Explore Good Night SMS poems

💞💧🌸💧💞💧🌸💞

           *संबंध और पानी*

         एक समान होते है।

     न कोई *रंग*, न कोई *रूप*,

      पर फिर भी जीवन के

         *अस्तित्व* के लिए

         सबसे *महत्वपूर्ण*…।                                                                                                                     

*💞💧🌸शुभप्रभात🌸💧💞*



Explore Good Morning SMS poems

नेपाली राष्ट्रगान-
.
सुनो गौर से इन्डिया वालो,
चाहे जितने महल बना लो,
उसके आगे गार्डन बना लो
उसके आगे गेट लगा लो,
गेट के आगे होंगे हम नेपाली
.
उ शाब जी😝



Explore Funny Jokes poems

🚼किसी नन्हे बच्चे की मुस्कान
देख कर कवि ने क्या खूब लिखा है

🍂दौड़ने दो खुले मैदानों में ,
       🍂इन नन्हें कदमों को जनाब .!

🍂जिंदगी बहुत तेज भगाती है ,,
        🍂बचपन गुजर जाने के बाद!!



Explore poems

गरीब हूँ मगर ख़ुश बहुत हूँ…!!!

क्योंकि दिल के अमीर
दोस्तों के साथ रहता हूँ ….!!!

उस चाँद को बहुत गुरूर है
कि उसके पास नूर है….!!!

मगर वो क्या जाने की
मेरा तो पूरा ग्रुप ही कोहिनूर है…!!!

🌹👌🏽🌹👌🏽🌹
👌🏽🌹👌🏽🌹👌🏽🌹



नाते किती जुने यावर मैत्री नाही टिकत ,
नाते टिकायला मैत्री खोल असावी लागते ,
कुठेही बी पेरल्यावर झाड नाही उगवत ,
जमीन मुळात ओळी असावी लागते



Explore Friendship SMS Marathi SMS poems

मैत्रीच्या नात्याने
ओंजळ माझी भरलेली…
तुझ्या साथीने आयुष्याची
वाट नव्याने फुललेली…
रात्र होती काळोखी
दुःखामध्ये बुडलेली…
तुझी सावली होती संगे
प्रकाश बनुनि खुललेली…



Explore Friendship SMS Marathi SMS poems

रक्ताची नाती जन्माने मिळतात ,
मानलेली नाती मनाने जुळतात ,
पण नाती नसतानाही जी बंधनात जुळतात ,
त्या रेशमी बंधनाला मैत्री म्हणतात
मरण म्हणजे जिथे जीवनाचा अंत होतो ,
तिरस्कार म्हणजे जिथे प्रेम संपून जाते ,
घटस्पोट म्हणजे जिथे विवाह दम तोडतो ,
समुद्र म्हणजे जिथे जमीन संपून जाते ,
मैत्री म्हणजे जिथे मी संपून आम्ही सुरु होतो …



Explore Friendship SMS Marathi SMS poems

नाते किती जुने यावर मैत्री नाही टिकत ,
नाते टिकायला मैत्री खोल असावी लागते ,
कुठेही बी पेरल्यावर झाड नाही उगवत ,
जमीन मुळात ओळी असावी लागते



Explore Friendship SMS Marathi SMS poems

💞🎶💞🎶💞💞🎶💞

जिंदगी सुंदर है पर मुझे.
जीना नहीं आता,
हर चीज में नशा है पर मुझे.
पीना नहीं आता,
सब मेरे बिना जी सकते हैं,
र्सिफ मुझे दोस्तों के बिना….
जीना नहीं आता….!
।।जय श्री राधे राधे।।
💞🎶💞🎶💞💞🎶💞



Explore Friendship SMS poems

बर्बाद हो गऐ थे हम दुनियाँ ने यूँ हमको सताया था,
हर एक मोड पे हम गिरते थे किसी ने भी ना हमको उठाया था,
तब तूने ही सनम एक उमीद का दिया जलाया था,
अपने हर एक गम को छुपाकर मुझे जीना सिखाया था,



Explore poems Shayari SMS

(निर्भया के बलात्कारी अफ़रोज़ की रिहाई पर आक्रोश व्यक्त करती मेरी नयी कविता)
रचनाकार-कवि गौरव चौहान इटावा उ प्र 9557062060
किस भारत पर गौरव कर लूँ,किस भारत की शान कहूँ?
किस भारत पर सीना ठोकूं?किसको हिन्दुस्तान कहूँ?
गंगा के दामन में हमने ख़ूनी नाले छोड़ दिए,
गीता के अध्यायों में,सब काले पन्ने जोड़ दिए,
आज खड़ा धरती पर ऊंचे आसमान पर रोता हूँ,
शर्म लिए आँखों में अपने संविधान पर रोता हूँ,
शर्म करो भारत वालों,तुम अपने लिखे विधानों पर,
शर्म करो इन्साफ संभाले इन लंगड़े दीवानो पर,
शर्म करो तुम पंगू होते अपने इन भुजदंडों पर,
शर्म करो लाचार बनाते कानूनी पाखंडों पर,
तुमने अपराधी को बालिग़ नाबालिग में बाँट लिया,
चीखों की नीलामी कर दी संविधान को चाट लिया,
उसको नाबालिग कहते हो,जो वहशत का गोला था,
“अब साली तू मर”जिसने ये रॉड डालकर बोला था,
कान फाड़ती चीखों पर भी जो खुलकर मुस्काया था,
जिसके सिर पर भूत हवस का बिना रुके मंडराया था,
वाह अदालत तूने इन्साफों का दर्पण तोड़ दिया,
नर पिशाच को दूध पिलाकर खुल्लम खुल्ला छोड़ दिया,
अरे?निर्भया की चीखों पर किंचित नही पसीजे तुम,
नाबालिग था,और मुसलमाँ,बस उस पर ही रीझे तुम,
संसद वालों,मौन तुम्हारा,तुम्हे नपुंसक बोलेगा,
किस दिन का है इंतज़ार?कब खून तुम्हारा खौलेगा?
शायद उस दिन ताला टूटे,संविधान की पेटी का,
जिस दिन जिस्म निचोड़ा जाएगा मंत्री की बेटी का,
उस दिन शायद कानूनों की धारा छेड़ी जायेगी,
किसी सांसद पुत्री के जब रॉड घुसेड़ी जायेगी,
लेकिन आम आदमी कब तक आंसू रोज बहायेगा,
और खून कब तलक दामिनी का अफ़रोज़ बहायेगा,
ये गौरव चौहान कहे,इन इंसाफी दरबारों से,
मत कोई समझौता करिये बेटी के हत्यारों से,
होगा ये अहसान तुम्हारा,उस अबला की आहों पर,
नंगा करके गोली मारो,खुलेआम चौराहों पर,
—–कवि गौरव चौहान(कृपया मूलरूप में ही शेयर करें,एडिटिंग कटिंग पेस्टिंग न करें)



Explore poems

“शब्द संभाले बोलिए, शब्द के हाथ न पावं!
“एक शब्द करे औषधि, एक शब्द करे घाव!
.
“शब्द सम्भाले बोलियेे, शब्द खीँचते ध्यान!
“शब्द मन घायल करेँ, शब्द बढाते मान!
.
“शब्द मुँह से छूट गया, शब्द न वापस आय..
“शब्द जो हो प्यार भरा, शब्द ही मन मेँ समाएँ!
.
“शब्द मेँ है भाव रंग का, शब्द है मान महान!
“शब्द जीवन रुप है, शब्द ही दुनिया जहान!
.
“शब्द ही कटुता रोप देँ, शब्द ही बैर हटाएं!
“शब्द जोङ देँ टूटे मन, शब्द ही प्यार बढाएं.🌹🌹🌹🌹🙏🙏



Explore poems

⏰⏰ -हास्य कविता- ⏰⏰

मुश्किल है अपना मेल प्रिये,
—-ये प्यार नहीं है खेल प्रिये,
तुम एम.ए. फर्स्ट डिवीजन हो,
—-मैं हुआ मैट्रिक फेल प्रिये,

तुम फौजी अफसर की बेटी,
—-मैं तो किसान का बेटा हूँ,
तुम रबड़ी खीर मलाई हो,
—-मैं तो सत्तू सपरेटा हूँ,

तुम ए.सी. घर में रहती हो,
—-मैं पेड़ के नीचे लेटा हूँ,
तुम नई मारूति लगती हो
—-मैं स्कूटर लेम्ब्रेटा हूँ,

इस तरह अगर हम छुप छुप,
—–कर आपस में प्यार बढाएंगे,
तो एक रोज़ तेरे डैडी
—-अमरीश पुरी बन जाएंगे,

सब हड्डी पसली तोड़,
—-मुझे भिजवा देंगे वो जेल प्रिये,
मुश्किल है अपना मेल प्रिये,
—-ये प्यार नहीं है खेल प्रिये,

तुम अरब देश की घोड़ी हो,
—-मैं हूँ गदहे की नाल प्रिये,
तुम दीवाली का बोनस हो,
—-मैं भूखों की हड़ताल प्रिये,

तुम हीरे जड़ी तश्तरी हो,
—-मैं एल्युमिनियम का थाल प्रिये,
तुम चिकन, सूप, बिरयानी हो,
—-मैं कंकड़ वाली दाल प्रिये,

तुम हिरन चौकड़ी भरती हो,
—-मैं हूँ कछुए की चाल प्रिये,
तुम चन्दन वन की लकड़ी हो,
—-मैं हूँ बबूल की छाल प्रिये,

मैं पके आम सा लटका हूँ,
—-मत मारो मुझे गुलेल प्रिये,
मुश्किल है अपना मेल प्रिये,
—-ये प्यार नहीं है खेल प्रिये,

तुम निर्मल पावन गंगा हो,
—-मैं जलता हुआ पतंगा हूँ,
तुम राजघाट का शान्ति मार्च,
—-मैं हिन्दू-मुस्लिम दंगा हूँ,

तुम हो पूनम का ताजमहल,
—-मैं काली गुफा अजन्ता की,
तुम हो वरदान विधाता का,
—-मैं गलती हूँ भगवन्ता की,

तुम जेट विमान की शोभा हो,
—-मैं बस की ठेलमपेल प्रिये,
मुश्किल है अपना मेल प्रिये,
—-ये प्यार नहीं है खेल प्रिये,

तुम नई विदेशी मिक्सी हो,
—-मैं पत्थर का सिलबट्टा हूँ,
तुम ए.के. सैंतालिस जैसी,
—-मैं तो इक देसी कट्टा हूँ,

तुम चतुर राबड़ी देवी सी,
—-मैं भोला-भाला लालू हूँ,
तुम मुक्त शेरनी जंगल की,
—-मैं चिड़ियाघर का भालू हूँ,

तुम व्यस्त सोनिया गाँधी सी,
—-मैं अडवाणी सा खाली हूँ,
तुम हँसी माधुरी दीक्षित की,
—-मैं पुलिसमैन की गाली हूँ,

गर जेल मुझे हो जाए तो,
—-दिलवा देना तुम बेल प्रिये,
मुश्किल है अपना मेल प्रिये,
—-ये प्यार नहीं है खेल प्रिये,

मैं ढाबे के ढांचे जैसा,
—-तुम पाँच सितारा होटल हो ,
तुम चित्रहार का मधुर गीत,
—-मैं कृषि दर्शन की झाड़ी हूँ,
तुम विश्व सुंदरी सी महान,
—-मैं ठेलिया छाप कबाड़ी हूँ,

तुम सोनी का मोबाइल हो,
—-मैं टेलीफोन वाला चोंगा,
तुम मछली मानसरोवर की,
—-मैं सागर तट का हूँ घोंघा,

दस मंजिल से गिर जाऊँगा,
—-मत आगे मुझे ढकेल प्रिये,
मुश्किल है अपना मेल प्रिये,
—-ये प्यार नहीं है खेल प्रिये,

तुम जयाप्रदा की साड़ी हो,
—-मैं शेखर वाली दाढी हूँ,
तुम सुषमा जैसी विदुषी हो,
—-मैं लल्लू लाल अनाड़ी हूँ,

तुम जया जेटली सी कोमल,
—-मैं सिंह मुलायम सा कठोर,
तुम हेमा मालिनी सी सुन्दर,
—-मैं बंगारू की तरह बोर,

तुम सत्ता की महारानी हो,
—-मैं विपक्ष की लाचारी हूँ,
तुम हो ममता जयललिता सी,
—-मैं क्वाँरा अटल बिहारी हूँ,

तुम संसद की सुन्दरता हो,
—-मैं हूँ तिहाड़ की जेल प्रिये,
मुश्किल है अपना मेल प्रिये,
—-ये प्यार नहीं है खेल प्रिये ।

वाकई
बहुत ही मुश्किल है,
अपना मेल प्रिये..!

!😄😳!हँसते रहें,
हँसाते रहें..!😳😄!



Explore Funny Jokes poems

👌👌बहुत बेहतरीन कविता है👌👌

तू जिंदगी को जी, उसे समझने की कोशिश न कर

सुन्दर सपनो के ताने बाने बुन,उसमे उलझने की कोशिश न कर

चलते वक़्त के साथ तू भी चल, उसमे सिमटने की कोशिश न कर

अपने हाथो को फैला, खुल कर साँस ले, अंदर ही अंदर घुटने की कोशिश न कर

मन में चल रहे युद्ध को विराम दे, खामख्वाह खुद से लड़ने की कोशिश न कर

कुछ बाते भगवान् पर छोड़ दे, सब कुछ खुद सुलझाने की कोशिश न कर

जो मिल गया उसी में खुश रह, जो सकून छीन ले वो पाने की कोशिश न कर

रास्ते की सुंदरता का लुत्फ़ उठा, मंजिल पर जल्दी पहुचने की कोशिश न कर….



Explore poems

💞🍀💞🌹🌹💞🍀💞
सुन्दर कविता जिसके अर्थ काफी गहरे हैं……..

मैंने .. हर रोज .. जमाने को .. रंग बदलते देखा है ….
उम्र के साथ .. जिंदगी को .. ढंग बदलते देखा है .. !!

वो .. जो चलते थे .. तो शेर के चलने का .. होता था गुमान..
उनको भी .. पाँव उठाने के लिए .. सहारे को तरसते देखा है !!

जिनकी .. नजरों की .. चमक देख .. सहम जाते थे लोग ..
उन्ही .. नजरों को .. बरसात .. की तरह ~~ रोते देखा है .. !!

जिनके .. हाथों के .. जरा से .. इशारे से .. टूट जाते थे ..पत्थर ..
उन्ही .. हाथों को .. पत्तों की तरह .. थर थर काँपते देखा है .. !!

जिनकी आवाज़ से कभी .. बिजली के कड़कने का .. होता था भरम ..
उनके .. होठों पर भी .. जबरन .. चुप्पी का ताला .. लगा देखा है .. !!

ये जवानी .. ये ताकत .. ये दौलत ~~ सब कुदरत की .. इनायत है ..
इनके .. रहते हुए भी .. इंसान को ~~ बेजान हुआ देखा है … !!

अपने .. आज पर .. इतना ना .. इतराना ~~ मेरे .. यारों ..
वक्त की धारा में .. अच्छे अच्छों को ~~ मजबूर हुआ देखा है .. !!!

कर सको……तो किसी को खुश करो……दुःख देते ……..तो हजारों को देखा है..



Explore poems

Door se dekha,
Kisi ke sath ja raha tha vo.
Awaaz aa rahi thi jaise,
Gunguna raha tha vo.
Masti me chalta aise,
Itraa raha tha vo.
Nazdeek pahunche to,
Tasweer hi badal gayi.
Na chahte huye bhee,
Aankhe machal gayi.
Akela hi tha vo us din,
Ladkhada raha tha vo.
Vo ro raha tha us din,
Ghabra raha tha vo.
Dooor se na pahchaana,
Vo kaun shakhs tha,
Kohra ghana tha us din,
Vo hamara hi aks tha.



Explore Love SMS poems

Hum beech manzil mai thay kharay
asqaam ke chadar oray hoay
ankhon mai ayaare kay thay dailay
har lab peh drogh ke the chashnee
zubaan afwahon say na ho aajiz
gardaan hamara hai tha mehdood
jab thaan le hum nay sachae ke
tab nafs nay baghawat kar daale
har fard nay kia alwida
aur chor gay waqt kay saharay per
tab waqt nay hum ko na jana
aur chor gaya dorahay per
mojon mai sukoon he sukoon, baki
aur shor hai ashkon ke lehroon mai
ab shikwa karain tu kis say karain



Explore Love SMS poems

Ae rab tujhse ab aur kuch nahi mangti hun main
maut ka bas vo din chahti hun main
thak chuki hun is zindagi se
ab bas aaram karna chahti hun
nahi chahti hun aisi zindagi jis mein bas
khushi hawa ke jhonke ki tarah ek pal guzar jaata hai
nahi chahati hun aisi zindagi jis mein
gamek aisa mausam ban ke aata hai jo kabhi jaata nahi
nahi chahti hun aisi zindagi jis mein
apne apne nahi,
na koi khushi hai,
na hi kisi ki khushi mein shaamil hone ki bhi aas ho
bas har baat pe apno ki berukhi hai
thak chuki hun is tez raftar zindagi se
ab bas aaram karna chahti hun
bas maut ka vo din mangti hun



Explore Love SMS poems

✏ ऐ   “सुख”  तू  कहाँ   मिलता   है
क्या.  तेरा   कोई.  स्थायी.   पता.  है

✏क्यों   बन   बैठा   है.   अन्जाना
आखिर.  क्या   है   तेरा   ठिकाना।

✏कहाँ   कहाँ.    ढूंढा.  तुझको
पर.  तू  न.  कहीं  मिला  मुझको

✏ढूंढा.  ऊँचे   मकानों.  में
बड़ी  बड़ी   दुकानों.  में

स्वादिस्ट   पकवानों.  में
चोटी.  के.  धनवानों.  में

✏वो   भी   तुझको.    ढूंढ.  रहे   थे
बल्कि   मुझको.  ही   पूछ.  रहे.  थे

✏क्या   आपको   कुछ   पता    है
ये  सुख  आखिर  कहाँ  रहता   है?

✏मेरे.  पास.  तो.  “दुःख”  का   पता   था
जो   सुबह   शाम.  अक्सर.  मिलता  था

✏परेशान   होके   रपट    लिखवाई
पर   ये   कोशिश   भी   काम  न  आई

✏उम्र   अब   ढलान.   पे.   है
हौसले    थकान.   पे.    है

✏हाँ   उसकी.  तस्वीर   है   मेरे.  पास
अब.  भी.  बची   हुई.  है    आस

✏मैं.  भी.  हार    नही    मानूंगा
सुख.  के.  रहस्य   को.   जानूंगा

✏बचपन.   में    मिला    करता    था
मेरे    साथ   रहा    करता.   था

✏पर.  जबसे.   मैं    बड़ा   हो.   गया
मेरा.  सुख   मुझसे   जुदा.  हो  गया।

✏मैं   फिर   भी.  नही   हुआ    हताश
जारी   रखी    उसकी    तलाश

✏एक.  दिन.  जब   आवाज.  ये    आई
क्या.   मुझको.   ढूंढ.  रहा  है   भाई

✏मैं.  तेरे.  अन्दर   छुपा.   हुआ.    हूँ
तेरे.  ही.  घर.  में.  बसा.   हुआ.   हूँ

✏मेरा.  नही.  है   कुछ.   भी    “मोल”
सिक्कों.   में.  मुझको.   न.   तोल

✏मैं.  बच्चों.  की.   मुस्कानों.   में    हूँ
हारमोनियम   की.   तानों   में.   हूँ

✏पत्नी.  के.  साथ    चाय.   पीने.  में
“परिवार”    के.  संग.  जीने.   में

✏माँ.  बाप   के.  आशीर्वाद    में
रसोई   घर   के  पफवानो।  में

✏बच्चों।  की   सफलता।  में।   हूँ
माँ।   की।  निश्छल।  ममता  में  हूँ

✏हर।  पल।  तेरे।  संग    रहता।  हूँ
और   अक्सर।  तुझसे   कहता।  हूँ

✏मैं   तो   हूँ   बस।  एक    “अहसास”
बंद।  कर   दे   तु।  मेरी    तलाश

✏जो   मिला   उसी।  में।  कर   “संतोष”
आज  को।  जी।  ले।  कल  की न सोच

✏कल  के   लिए।  आज।  को  न   खोना

मेरे   लिए   कभी   दुखी।   न।होना 🌺🌺💐💐🙏
सभी मित्रो समर्पित😊



Explore Interesting SMS poems

🙏रघुपति राघव राजा राम,
😜जेल के अन्दर आशाराम।
😱साधू बन के ऐसे काम,
😪कैदी बन के करो आराम।
😳देख लिये अपना अंजाम,
😁हुए बुढ़ापे में बदनाम।
😡झूटे पाखंडी के नाम,
👪देश का है ये पैगाम।
😇खुद को कहते थे भगवन,
☝पकड़े गये न झंडू बाम।
😜😝😃😀😄😊
😆जो ये मैसेज औरों को भेजे उसको जादू की झप्पी
😀और जो ना भेजे उसे
आसाराम बापू की पप्पी
😘😚😘😚😘😚
😄😄😄



Explore Funny Jokes poems

🔔 Nice Prayer 🔔

सुकून उतना ही देना,
प्रभु जितने से जिंदगी चल जाए,
औकात बस इतनी देना, कि,
औरों का भला हो जाए,
रिश्तो में गहराई इतनी हो, कि,
प्यार से निभ जाए,
आँखों में शर्म इतनी देना, कि,
बुजुर्गों का मान रख पायें,
साँसे पिंजर में इतनी हों, कि,
बस नेक काम कर जाएँ,
बाकी उम्र ले लेना, कि,
औरों पर बोझ न बन जाएँ ।



Tere jaane k baad kuch ajeeb si
kahani meri
,
Na koi jakhm na koi nishani
teri….
Har koi puchta hai mjhse ,
Kaha gyi wo dewaani teri….
Bs has kr ye jawab de jata hu,
Wo thi ek ansuni kahani
meri….
Har raat meri tanhai pucha krti
hai,
Kaha gyi wo pagli si dewaani
teri….
Aur main bs yahi keh pata hu
yahi,
Wo hai adhuri kahani meri….



Explore Love SMS poems

आँख है भरी भरी और तुम
मुस्कुराने की बात करते हो – २
ज़िंदगी खफ़ा खफ़ा और तुम
दिल लगाने की बात करते हो
आँख है भरी भरी और तुम
मुस्कुराने की बात करते हो

मेरे हालात ऐसे हैं
के मैं कुछ कर नहीं सकता – २
तड़पता है ये दिल लेकिन
ये आहें भर नहीं सकता
ज़ख्म है हरा हरा और तुम
चोट खाने की बात करते हो
ज़िंदगी खफ़ा खफ़ा और तुम
दिल लगाने की बात करते हो
आँख है भरी भरी और तुम
मुस्कुराने की बात करते हो

ज़माने में भला कैसे
मुहोब्बत लोग करते हैं – २
वफ़ा के नाम की अब तो
शिकायत लोग करते हैं
आग है बुझी बुझी और तुम
लौ जलाने की बात करते हो
ज़िंदगी खफ़ा खफ़ा और तुम
दिल लगाने की बात करते हो
आँख है भरी भरी और तुम
मुस्कुराने की बात करते हो

कभी जो ख्वाब देखा तो
मिली परछाईयाँ मुझ को – २
मुझे महफ़िल की ख्वाहिश थी
मिली तनहाईयाँ मुझ को
हर तरफ़ धुआँ धुआँ और तुम
आशियाने की बात करते हो
ज़िंदगी खफ़ा खफ़ा और तुम
दिल लगाने की बात करते हो
आँख है भरी भरी और तुम
मुस्कुराने की बात करते हो



Explore Interesting SMS poems

तू
जिंदगी को जी
उसे समझने की
कोशिश न कर

सुन्दर सपनो के
ताने बाने बुन
उसमे उलझने की
कोशिश न कर

चलते वक़्त के साथ
तू भी चल
उसमे सिमटने की
कोशिश न कर

अपने हाथो को फैला,
खुल कर साँस ले
अंदर ही अंदर घुटने की
कोशिश न कर

मन में चल रहे
युद्ध को विराम दे
खामख्वाह खुद से
लड़ने की कोशिश न कर

कुछ बाते
भगवान् पर छोड़ दे
सब कुछ खुद सुलझाने की
कोशिश न कर

जो मिल गया
उसी में खुश रह
जो सकून छीन ले
वो पाने की कोशिश न कर

रास्ते की सुंदरता का
लुत्फ़ उठा
मंजिल पर जल्दी
पहुचने की कोशिश न कर….



Explore Interesting SMS poems

🌀🌻🌀🌻🌀🌻🌀🌻🌀🌻
“खुश हूँ और सबको
खुश रखता हूँ,
लापरवाह हूँ फिर भी
सबकी परवाह
करता हूँ,
मालूम है कोई मोल
नही मेरा,
फिर भी,
कुछ अनमोल इन्सानों
से रिश्ता रखता हूँ.
🌻🌀🌻🌀🌻🌀🌻🌀🌻🌀🙏



Explore Interesting SMS poems

😃खुशी भी दोस्तों से है , S
😔गम भी दोस्तों से है ,
😡तकरार भी दोस्तों से है ,
😍प्यार भी दोस्तों से है ,
😚रूठना भी दोस्तों से है ,
😘मनाना भी दोस्तों से है ,A
😛बात भी दोस्तों से है ,
😇मिसाल भी दोस्तों से है ,
😏नशा भी दोस्तों से है ,
😑शाम भी दोस्तों से है ,
😍मौहब्बत भी दोस्तों से है ,
😋इनायत भी दोस्तों से है ,
😥काम भी दोस्तों से है ,
😃नाम भी दोस्तों से है , G
😬ख्याल भी दोस्तों से है ,
😯अरमान भी दोस्तों से है ,
😴ख्वाब भी दोस्तों से है ,
😎माहौल भी दोस्तों से है ,
😄यादें भी दोस्तों से है ,
😴सपने भी दोस्तों से है ,
☺अपने भी दोस्तों से है ,A
😵या यूं कहो यारो
😲अपनी तो दुनिया ही
😜दोस्तों से है ।।
( भाई भाई)
😄😄😄😃
    (¨`·.·´¨) Alwayz
     `·.¸(¨`·.·´¨) Keep
    (¨`·.·´¨)¸.·´ Smiling!
     `·.¸.·´ R



Explore Friendship SMS poems

रिश्ता वो नहीं होता जो
दुनिया को दिखाया जाता है!
रिश्ता वह होता है,जिसे
दिल से निभाया जाता है!!
अपना कहने से कोई
अपना नहीं होता,
अपना वो होता है जिसे
दिल से अपनाया जाता है!
🌹🍀🌹 🌹🍀🌹



Explore Interesting SMS poems

कमाल है ना……..
आँखे तालाब नहीँ फिर भी भर आती हैँ
दुश्मनी बीज नही ,फिर भी बोयी जाती है,
होठ कपड़ा नही, फिर भी सिल जाते हैँ,
किस्मत सखी नही फिर भी रुठ जाती है,
बुद्वि लोहा नही, फिर भी जंग लग जाती है,
आत्मसम्मान शरीर नहीं
……………..फिर भी घायल हो जाता है
और
इन्सान मौसम नही, फिर भी बदल जाता है……..



Explore Interesting SMS poems

कन्यादान हुआ जब पूरा,
आया समय विदाई का ।
हँसी ख़ुशी सब काम हुआ था,
सारी रस्म अदाई का ।।

बेटी के उस कातर स्वर ने,
बाबुल को झकझोर दिया ।
पूछ रही थी पापा तुमने,
क्या सचमुच में छोड़ दिया ।।

अपने आँगन की फुलवारी,
मुझको सदा कहा तुमने ।
रोना मेरा पल भर को भी,
बिल्कुल नहीं सहा तुमने ।।

क्या इस आँगन के कोने में,
मेरा कुछ स्थान नहीं ।
अब मेरे रोने का पापा,
तुमको बिल्कुल भी ध्यान नहीं ।।

देखो अन्तिम बार देहरी,
लोग मुझे पुजवाते हैं ।
आकर के पापा क्यों इनको,
आप नहीं धमकाते हैं ।।

नहीं रोकते चाचा ताऊ,
भैया से भी आस नहीं ।
ऐसी भी क्या निष्ठुरता है,
कोई आता पास नहीं ।।

बेटी की बातों को सुन के,
पिता नहीं रह सका खड़ा ।
उमड़ पड़े आँखों से आँसू,
बदहवास सा दौड़ पड़ा ।।

कातर बछिया सी वह बेटी,
लिपट पिता से रोती थी ।
जैसे यादों के अक्षर वह,
अश्रु बिंदु से धोती थी ।।

माँ को लगा गोद से कोई,
मानो सब कुछ छीन चला ।
फूल सभी घर की फुलवारी,
से कोई ज्यों बीन चला ।।

छोटा भाई भी कोने में,
बैठा बैठा सुबक रहा ।
उसको कौन करेगा चुप अब,
वह कोने में दुबक रहा ।।

बेटी के जाने पर घर ने,
जाने क्या क्या खोया है ।
कभी न रोने वाला बापू,
फूट फूट कर रोया है ।।



Explore Interesting SMS poems

कीचड़ में पैर फंस जाये तो
नल के पास जाना चाहिए
मगर………
नल को देखकर
कीचड़ में नही जाना चाहिए,
इसी प्रकार..
जिन्दगी में बुरा समय आ जाये
तो….
पैसों का उपयोग करना चाहिए
मगर……..
पैसों को देखकर
बुरे रास्ते पर नही जाना  चाहिए



Online , Online Chat Kardi
Saun De Mahine Vich Sapp Fardhi
Uper Kitab Thalle Tab Dhardi
Mappe Kehnde Kudi Saadi Bahla Parhdi
Online , Online Chat Kardi
Saun De Mahine Vich Sapp Fardhi

Kahdiya Ne Yaarian Laffafe Khali Bai
Aiven Banda Chukki Fireh Bhar Man’h Da
Pehla Pehlan Hundi Consent Mitro
Tutte Jadon Pyaar Fir Rape Banhda
Ratto Ratt Banhdi Ee Rail Mitro
Khabar Koi Medie De Dhakke Chardi
Uper Kitab Thalle Tab Dhardi
Mappe Kehnde Kudi Saadi Bahla Parhdi
Online , Online Chat Kardi
Saun De Mahine Vich Sapp Fardhi

Pehla Kiti Daroo Di Izaaz Bande Ne
Houli Houli Feem Di Shokken Ho Gayi
Houli Houli Aagye Angreji Teeke Bai
Aaj Kal Fashion Cocaine Ho Gayi
Gharu Ghari Hogi Delivery Jatta
Chitta Jiha Powder Sniff Kardi
Uper Kitab Thalle Tab Dhardi
Mappe Kehnde Kudi Saadi Bahla Parhdi
Online , Online Chat Kardi
Saun De Mahine Vich Sapp Fardhi

Akkhiya Peo Di Pagg Nu Rulayi Na
Maada Anjaam Hunda Es Fun Da
Teacher Ju Meinu Boleu Hass Ke
Bapu Mera Raudah Pagg Hi Ni Banh’da
Oh Titli Jahi Vekh Lau Rakkan Mitru
Bhaj Bhaj Dekhu Titlliyan Farhdi
Uper Kitab Thalle Tab Dhardi
Mappe Kehnde Kudi Saadi Bahla Parhdi
Online , Online Chat Kardi
Saun De Mahine Vich Sapp Fardhi

2 – 2 Tab 4 – 4 Sim Ne
Har Ik Banda Busy Facebook Te
Parlour Vich Dekhu Line”an Laggiya
Har Koi Dhyan Dinda Hun Look Te
Khant Maan Pur Vich Roula Pai Giya
Bhutri Jawani na Ghara Ch Varhdi
Uper Kitab Thalle Tab Dhardi
Mappe Kehnde Kudi Saadi Bahla Parhdi
Online , Online Chat Kardi
Saun De Mahine Vich Sapp Fardhi



Explore Interesting SMS poems

क्यों छोड़ा था तूने अपना ये गाँव जरा लिखना–!!!

शहर जाकर ऐ मेरे दोस्त अपना पता लिखना !
क्यों छोड़ा था तूने अपना ये गाँव जरा लिखना !!

क्या अब स्वाद नही रहा चूल्हे की जली रोटी में !
क्यों खफा हुआ इस आबो हवा से जरा लिखना !!

माना के चंद कागज़ के टुकड़े की कमी थी यहाँ पर !
मिल जाए गर सुकून मेरे गावों जैसा जरा लिखना !!

कहने को होंगे बहुत से खजाने कुबेर के तेरे शहर मैं !
मिल जाए मिटटी में खुशबु यहाँ जैसी जरा लिखना !!

यंहा रोज़ लड़ता था माँ से, बात-बात पे बिगड़ता था !
पड़ी वो मार चिमटे की आये जो याद जरा लिखना !!

सुना है बहुत सलीका है तेरे शहर में जिंदगी जीने का !
सो सके चैन की नींद जिस दिन वहां पर जरा लिखना !!

खान पान के मिलेंगे बहुत तरीके शहर में नए नए !
बुझा सके प्यास कुए के नीर जैसी तो जरा लिखना !!

कहते है बड़ी मन लुभावन होती है शहर की चकाचौंध !
दिये सी उभरती परछाई तू देख सके, तो जरा लिखना !!

वैसे तो हमदर्द बहुत होंगे तेरे इर्द गिर्द तुझे सँभालने को !
मिल जाए वफ़ादार तेरे घर के पशुओ जैसा जरा लिखना !!

यूँ तो रहोगे मशगूल बहुत अपने आपमें भूलकर सब कुछ !
कभी तन्हाई में आये याद इस यार की, तो जरा लिखना !!

शहर जाकर ऐ मेरे दोस्त अपना पता लिखना !
क्यों छोड़ा था तूने अपना ये गाँव जरा लिखना !!



Explore Interesting SMS poems

इस जीवन की चादर में,
सांसों के ताने बाने हैं।

दुख की थोड़ी सी सलवट है,
सुख के कुछ फूल सुहाने हैं।

क्यों सोचे आगे क्या होगा,
अब कल के कौन ठिकाने हैं।

ऊपर बैठा वो बाजीगर ,
जाने क्या मन में ठाने है।

चाहे जितना भी जतन करे,
भरने का दामन तारों से।

झोली में वो ही आएँगे,
जो तेरे नाम के दाने है।



Explore Interesting SMS poems

हम भी तेरी मोहनी मूरत दिल में छिपाये बैठे है ,तेरी सुन्दर सी छवि आँखों में बसाये बैठेहै ।।इक बार बांसुरी की मधुर तान सुनादे कान्हा ,हम भी एक छोटी सी आस जगाये बैठे है ।।राधे राधे जय श्री राधे।।।
🙏💐 जय जय श्री राधे 💐🙏
🌻 🌞 सुप्रभात दोस्तो 🌻 🌻



Explore Good Morning SMS poems

🔔  आज  का  विचार  🔔

🎈   दुनियां में इन्सान के आने
की  खबर  तो  नौ  महीने
पहले मालुम हो जाती है l

🎈   लेकिन  इन्सान  के  जाने
की खबर नौ सेकेन्ड पहले
भी  नहीं मालुम हो पाती l

🎈   इसलिए हमेशा मस्त रहो
और  व्यस्त  रहो……l

🙏  शुभ:  प्रभात्  🙏

🎈  आज का दिन
आपका शुभ हो………®



एक पुत्र ने दो खूबसुरत पंक्तियां लिखी….
👌👌👌👌👌👌👌
मुझसे मेरी माँ की दो पल की
जुदाई भी सही नही जाती हैं
पता नही बेटींयां ये हुनर …
कहाँ से लाती हैं……
🍄🍄बेटियाँ सब के नसीब में कहाँ होती है, रब को जो घर पसंद आए वहाँ होती है🍄🍄
“पराया धन होकर भी कभी पराई नही होती। शायद इसीलिए….किसी बाप से… हंसकर बेटी की, विदाई नही होती।।”👣👣



Explore Interesting SMS poems

मोदी नो नारो
प्रजा नो वारो
बस  हवे मात्र भाव वधारो
पहेला रेल
हवे    तेल
आ बधा मोदी ना खेल
भैया एक पान लगाना….!!!

लेकिन चुना मत लगाना……

क्यों ????

“”वो मोदीजी लगा तो रहे है””
😛😝😜😀😍😩😫😏
मोदी +आनंदी =मंदी
😭😭😭



Explore Interesting SMS poems

Kabhi pehli baar school jaane mein darr lagta tha,
Aaj har
rasta khud hi chunte hai..!!
.
Kabhi mummy-papa ki har baat sacchi lagti thi,
Aaj unhi se
jhooth bolte hai..!!
.
Kabhi chhoti si chot kitna rulati thi, Aaj dil toot
jata hai phir
bi sambhal jaate hai..!!
.
Pehle dost bas saath khelne tak yaad rehte the,
Aaj kuch
dost jaan se zyada pyare lagte hai..!!
.
Ek din tension ka meaning maa se puchna padta
tha, Or aaj
tension soulmate lagta hai..!!
.
Ek din tha jab pal mein ladna, pal mein manana
to roz ka
kam tha,
.
Aaj ek baar jo juda hue toh rishte tak kho jate
hai..!!
.
Sachi, zindagi ne bahut kuch sikha diya..!! Na
jaane rabb ne
humko itna jaldi bada kyun bana Diya….



Explore Interesting SMS poems

बेजुबान पत्थर पे लदे है करोडो के गहने मंदिरो में ।
उसी देहलीज पे एक रूपये को तरसते नन्हे हाथो को देखा है।।

सजे थे छप्पन भोग और मेवे मूरत के आगे । बाहर एक फ़कीर को भूख से तड़प के मरते देखा है ।।

लदी हुई है रेशमी चादरों से वो हरी मजार ,पर बहार एक बूढ़ी अम्मा को ठंड से ठिठुरते देखा है।

वो दे आया एक लाख गुरद्वारे में हाल के लिए , घर में उसको 500 रूपये के लिए काम वाली बाई बदलते देखा है।

सुना है चढ़ा था सलीब पे कोई दुनिया का दर्द मिटाने को, आज चर्च में बेटे की मार से बिलखते माँ बाप को देखा है।

जलाती रही जो अखन्ड ज्योति देसी घी की दिन रात पुजारन , आज उसे प्रसव में कुपोषण के कारण मौत से लड़ते देखा है ।

जिसने न दी माँ बाप को भर पेट रोटी कभी जीते जी ,  मरने के बाद उसे उनके नाम से भंडारे लगतेदेखा है।

दे के समाज की दुहाई ब्याह दिया था  जिस बेटी को जबरन बाप ने, आज उसी  बेटी को शौहर के हाथो सरे राह पिटते देखा है ।

मारा गया वो पंडित बेमौत सड़क दुर्घटना में यारो ,
जिसे खुदको काल सर्प,तारे और हाथ की लकीरो का जानकार लिखते देखा है ।

जिस घर की एकता की देता था जमाना कभी मिसाल दोस्तों ,
आज उसी आँगन में खिंचती दीवार को देखा है।

इस कविता को मैने आप तक पहुंचाने मे  र्सिफ उंगली का उपयोग किया है,दोस्तों।



Explore Interesting SMS poems

माँ की ममता का सागर ये,
मेरी आँखों का तारा है !
कैसे बतलाऊँ तुमको ,
किस लाड प्यार से पाला है !!

तुम द्वारे मेरे आए हो,
मैं क्या सेवा कर सकता हूँ !
ये कन्या रूपी नवरत्न तुम्हें,
मैं आज समर्पित करता हूँ !!

मेरे ह्रदय के नील गगन का,
ये चाँद सितारा है !
मैं अब तक जान ना पाया था,
इस पर अधिकार तुम्हारा है !!

ये आज अमानत लो अपनी,
करबद्ध 🙏 निवेदन करता हूँ !
ये कन्या रूपी नवरत्न तुम्हें,
मैं आज समर्पित करता हूँ !!

इससे कोई भूल होगी,
ये सरला है , सुकुमारी है !
इसकी हर भूल क्षमा करना ,
ये मेरे घर की राजदुलारी है !!

मेरी कुटिया की शोभा है,
जो तुमको अर्पण करता हूँ !
ये कन्या रूपी नवरत्न तुम्हें ,
मैं आज समर्पित करता हूँ !!

भाई से आज बहन बिछ्ड़ी ,
माँ से बिछ्ड़ी उसकी ममता !
बहनों से आज बहन बिछ्ड़ी ,
लो तुम्हीं इसके आज सखा !!

मैं आज पिता कहलाने का,
अधीकर समर्पित करता हूँ !
ये कन्या रूपी नवरत्न तुम्हें,
मैं आज समर्पित करता हूँ !!

जिस दिन था इसका जन्म हुआ,
ना गीत हुए ना बजी शहनाई !
पर आज विदाई के अवसर पर,
मेरे घर बजती खूब शहनाई  !!

यह बात समझकर मैं,
मन ही मन रोया 😭 करता हूँ !
ये गौकन्या रूपी नवरत्न तुम्हें,
मैं आज समर्पित करता हूँ !!
ये गौकन्या रूपी नवरत्न तुम्हें,
मैं आज समर्पित करता हूं …..
😌😌😌



Explore Interesting SMS poems

आगे सफर था और पीछे हमसफर था….

रूकते तो सफर छूट जाता और चलते तो हम सफर छूट जाता…

मंजिल की भी हसरत थी और उनसे भी मोहब्बत थी..

ए दिल तू ही बता…उस वक्त मैं कहाँ जाता…

मुद्दत का सफर भी था और बरसो का हम सफर भी था

रूकते तो बिछड जाते और चलते तो बिखर जाते….

यूँ समँझ लो….

प्यास लगी थी गजब की..
मगर पानी मे जहर था…
पीते तो मर जाते और ना पीते तो भी मर जाते.



Explore Interesting SMS poems

☆सुनने की आदत डालो,
क्योकि… ताने मारने वालो की कमी नहीं हैं,

☆मुस्कराने की आदत डालो,
क्योकि… रुलाने वालो की कमी नहीं हैं,

☆ऊपर उठने की आदत डालो,
क्योकि… टांग खींचने वालो की कमी नहीं है,

☆प्रोत्साहित करने की आदत डालो,
क्योकि… हतोत्साहित करने वालो की कमी नहीं है!



Explore Interesting SMS poems

💥पैसा💥

जब पैसा नहीं होता है तो सब्जियां पका के खाता है
और
जब पैसा आ जाता है तो सब्जियां कच्ची खाता है।

जब पैसा नहीं होता है तो मंदिर में भगवान के दर्शन करने जाता है
और
जब पैसा आ जाता है तो इंसान भगवान को दर्शन देने जाता है।

जब पैसा नहीं होता है तो नींद से जगाना पड़ता है
और
जब पैसा आ जाता है तो नींद की गोली देके सुलाना पड़ता है।

जब पैसा नहीं होता है तो अपनी बीवी को सेक्रेट्री समझता है
लेकिन जब पैसा आ जाता है तो सेक्रेट्री को बीवी बना लेता है।।

ऐसा है ये पैसा अजीब है ये पैसा…?
छोटा सा जीवन है, लगभग 80 वर्ष।
उसमें से आधा =40 वर्ष तो रात को
बीत जाता है। उसका आधा=20 वर्ष
बचपन और बुढ़ापे मे बीत जाता है।
बचा 20 वर्ष। उसमें भी कभी योग,
कभी वियोग, कभी पढ़ाई,कभी परीक्षा,
नौकरी, व्यापार और अनेक चिन्ताएँ
व्यक्ति को घेरे रखती हैँ।अब बचा ही
कितना ? 8/10 वर्ष। उसमें भी हम
शान्ति से नहीं जी सकते ? यदि हम
थोड़ी सी सम्पत्ति के लिए झगड़ा करें,
और फिर भी सारी सम्पत्ति यहीं छोड़
जाएँ, तो इतना मूल्यवान मनुष्य जीवन
प्राप्त करने का क्या लाभ हुआ?



Explore Interesting SMS poems

👌👌बहुत बेहतरीन कविता है…👌👌

तू जिंदगी को जी, उसे समझने की कोशिश न कर…

सुन्दर सपनो के ताने बाने बुन, उसमे उलझने की कोशिश न कर….

चलते वक़्त के साथ तू भी चल, उसमे सिमटने की कोशिश न कर….

अपने हाथो को फैला, खुल कर साँस ले,
अंदर ही अंदर घुटने की कोशिश न कर…..

मन में चल रहे युद्ध को विराम दे,
खामख्वाह खुद से लड़ने की कोशिश न कर…..

कुछ बाते भगवान् पर छोड़ दे,
सब कुछ खुद सुलझाने की कोशिश न कर….

जो मिल गया उसी में खुश रह,
जो सकून छीन ले वो पाने की कोशिश न कर…..

रास्ते की सुंदरता का लुत्फ़ उठा, मंजिल पर जल्दी पहुचने की कोशिश न कर….!!!



Explore Interesting SMS poems

बस यही दो मसले, जिंदगीभर ना हल हुए!!!
ना नींद पूरी हुई, ना ख्वाब मुकम्मल हुए!!!

वक़्त ने कहा…..काश थोड़ा और सब्र होता!!!
सब्र ने कहा….काश थोड़ा और वक़्त होता!!!

सुबह सुबह उठना पड़ता है कमाने के लिए साहेब…।।
आराम कमाने निकलता हूँ आराम छोड़कर।।💐

“हुनर” सड़कों पर तमाशा करता है और “किस्मत” महलों में राज करती है!!

“शिकायते तो बहुत है तुझसे ऐ जिन्दगी,
पर चुप इसलिये हु कि, जो दिया तूने,
वो भी बहुतो को नसीब नहीं होता”…



Explore Interesting SMS poems

यार से ऐसी यारी रख
दुःख में भागीदारी रख,
चाहे लोग कहे कुछ भी
तू तो जिम्मेदारी रख,
वक्त पड़े काम आने का
पहले अपनी बारी रख,
मुसीबते तो आएगी
पूरी अब तैयारी रख,
कामयाबी मिले ना मिले
जंग हौंसलों की जारी रख,
बोझ लगेंगे सब हल्के
मन को मत भारी रख,
मन जीता तो जग जीता
कायम अपनी खुद्दारी रख.
🙏🌹🙏



Explore Interesting SMS poems

Rooh Ko Tadpa Rahi Hai Un Ki Yaad,
Dard Ban Kar Chaa Rahi Hai Un Ki Yaad,
Ishq Se Ghabra Rahi Hai Un Ki Yaad,
Rukte-Rukte Aa Rahi Hai Un Ki Yaad,
Wo Hanse Wo Zer-e-Lab Kuch Keh Uthe,
Khwab Se Dikhla Rahi Hai Un Ki Yaad,
Main To Khudari Ka Qayal Hun Magar,
Kya Karun Phir Aa Rahi Hai Un Ki Yaad,
Ab Khyal-e-Tark-e-Rabt Zabt Hi Se Hai,
Khud B Khud Sharma Rahi Hai Un Ki Yaad.?????



Explore Interesting SMS poems

मकान चाहे कच्चे थे
लेकिन रिश्ते सारे सच्चे थे…

चारपाई पर बैठते थे
पास पास रहते थे…

सोफे और डबल बेड आ गए
दूरियां हमारी बढा गए…

छतों पर अब न सोते हैं
बात बतंगड अब न होते हैं…

आंगन में वृक्ष थे
सांझे सुख दुख थे…

दरवाजा खुला रहता था
राही भी आ बैठता था…

कौवे भी कांवते थे
मेहमान आते जाते थे…

इक साइकिल ही पास था
फिर भी मेल जोल था…

रिश्ते निभाते थे
रूठते मनाते थे…

पैसा चाहे कम था
माथे पे ना गम था…

मकान चाहे कच्चे थे
रिश्ते सारे सच्चे थे…

अब शायद कुछ पा लिया है,
पर लगता है कि बहुत कुछ गंवा दिया…

जीवन की भाग-दौड़ में –
क्यूँ वक़्त के साथ रंगत खो जाती है?

हँसती-खेलती ज़िन्दगी भी,
आम हो जाती है।

एक सवेरा था,
जब हँस कर उठते थे हम…

और

आज कई बार,
बिना मुस्कुराये ही
शाम हो जाती है!!

कितने दूर निकल गए,
रिश्तो को निभाते निभाते…

खुद को खो दिया हमने,
अपनों को पाते पाते…

Beautiful poem by
–हरिवंशराय बच्चन



Explore Interesting SMS poems

सुन्दर कविता जिसके अर्थ काफी गहरे हैं……..

मैंने .. हर रोज .. जमाने को .. रंग बदलते देखा है ….
उम्र के साथ .. जिंदगी को .. ढंग बदलते देखा है .. !!

वो .. जो चलते थे .. तो शेर के चलने का .. होता था गुमान..
उनको भी .. पाँव उठाने के लिए .. सहारे को तरसते देखा है !!

जिनकी .. नजरों की .. चमक देख .. सहम जाते थे लोग ..
उन्ही .. नजरों को .. बरसात .. की तरह ~~ रोते देखा है .. !!

जिनके .. हाथों के .. जरा से .. इशारे से .. टूट जाते थे ..पत्थर ..
उन्ही .. हाथों को .. पत्तों की तरह .. थर थर काँपते देखा है .. !!

जिनकी आवाज़ से कभी .. बिजली के कड़कने का .. होता था भरम ..
उनके .. होठों पर भी .. जबरन .. चुप्पी का ताला .. लगा देखा है .. !!

ये जवानी .. ये ताकत .. ये दौलत ~~ सब कुदरत की .. इनायत है ..
इनके .. रहते हुए भी .. इंसान को ~~ बेजान हुआ देखा है … !!

अपने .. आज पर .. इतना ना .. इतराना ~~ मेरे .. यारों ..
वक्त की धारा में .. अच्छे अच्छों को ~~ मजबूर हुआ देखा है .. !!!

कर सको……तो किसी को खुश करो……दुःख देते ……..तो हजारों को देखा है..



Explore Interesting SMS poems

रुई का गद्दा बेच कर
मैंने इक दरी खरीद ली,
ख्वाहिशों को कुछ कम किया मैंने
और ख़ुशी खरीद ली ।

सबने ख़रीदा सोना
मैने इक सुई खरीद ली,
सपनो को बुनने जितनी
डोरी ख़रीद ली ।

मेरी एक खवाहिश मुझसे
मेरे दोस्त ने खरीद ली,
फिर उसकी हंसी से मैंने
अपनी कुछ और ख़ुशी खरीद ली ।

इस ज़माने से सौदा कर
एक ज़िन्दगी खरीद ली,
दिनों को बेचा और
शामें खरीद ली ।

शौक-ए-ज़िन्दगी कमतर से
और कुछ कम किये,
फ़िर सस्ते में ही
“सुकून-ए-ज़िंदगी” खरीद ली ।



Explore Interesting SMS poems

💗 ભુલાઇ ગયું 💗

ઘરમાં ટી વી આવ્યું,
હું વાંચન ભુલ્યો.

બારણે ગાડી આવી,
હું ચાલવાનું ભુલ્યો.

હાથમાં મોબાઇલ આવ્યો,
હું પત્રલેખન ભુલ્યો.

કેલક્યુલેટર વપરાશથી,
ઘડીયા બોલવાનું ભુલ્યો.

એ સી ના સંગતથી,
ઝાડ નીચેની ઠંડી હવા ભુલ્યો.

શહેરમાં રહેવાથી,
માટીની વાસ ભુલ્યો.

બેંકના ખાતા સંભાળતા સંભાળતા,
પૈસાની કિંમત ભુલ્યો.
અભદ્ર ચિત્રો થકી,
સૌંદ્રય જોવાનું ભુલ્યો.

કૃત્રિમ સેંટના વાસ થકી,
ફુલોની સુગંધ ભુલ્યો.

ફાસ્ટ ફૂડના જમાનામાં,
સંતોષનો ઓડકાર ભુલ્યો.

સ્વાથીઁ સંબધો રાખવાથી,
સાચો પ્રેમ કરવાનું ભુલ્યો.

ક્ષણીક સુખના લોભમાં
સત્કમઁનો આનંદ ભુલ્યો.

સતત દોડતા રહેવાના જીવનમાં,
ક્ષણભરનો વિસામો ભુલ્યો.

Whatsapp ના આવવાથી,
સુખેથી સુવાનું ભુલ્યો.

🌺….🌺



Explore poems

ऐङमिनजी की आरती🍁
” ऐडमिन आरती”
जय एडमिन देवा जय एडमिन देवा ।
आपकी दया से नेट पे आनंद घणा लेवा ।।
चोखी चोखी ज्ञान की बातें खूब घणी बांचा !
धर्म करम की गंगा पाप का ना खांचा ।।
डांट डपट फटकार से थारो नहीं नातों ।
जो कोई यहां पे आयो, तो पाछो नहीं जातो।।
बिना काम की चौधर थाने सुहावे नहीं ।
आप कहो सो होवे, साची थारी बही ।।
ये आरती एडमिन की जो सदस्य गाता ।
उर आनंद अति उमड़े मौज करत जाता ।।
🌺🌹🌺🌹💐🌹🌺🌺🌹



🌿🌹🌿🌹🌿🌹🌿🌹🌿🌹
सुंदरता हो न हो
सादगी होनी चाहिये.
खुशबू हो न हो
महक होनी चाहिये.
रिश्ता हो न हो
बंदगी होनी चाहिये.
मुलाकात हो न हो
बात होनी चाहिये.
यु तो हर कोई उलझा है अपनी उलझनों मे
सुलझन हो न हो
☺सुलझाने कि कोशिश होनी चाहिये।
💞✨💞✨💞✨💞✨💞 💐सुप्रभात💐



Explore Love SMS poems

🙏 जीवन मंत्र

“नल बंद करने से नल बंद होता है!
“पानी नहीं!
“घड़ी बंद करने से घड़ी बंद होती है!
“समय नहीं!
“दीपक बुझाने से दीपक बुझाता है!
“रौशनी नहीं!
“झूट छुपाने से झूट छुपता है!
“सच नहीं!
“प्रेम करने से प्रेम मिलता है!
“नफरत नहीं!
“दान करने से रुपया जाता है!
“लक्ष्मीनहीं!.



🌾🌾🌾
ईश्वर का दिया कभी अल्प नहीं होता;
जो टूट जाये वो संकल्प नहीं होता;
हार को लक्ष्य से दूर ही रखना;
क्योंकि जीत का कोई विकल्प नहीं होता।
🌿
🌾🌾🌾
जिंदगी में दो चीज़ें हमेशा टूटने के लिए ही होती हैं :
“सांस और साथ”
सांस टूटने से तो इंसान 1 ही बार मरता है;
पर किसी का साथ टूटने से इंसान पल-पल मरता है।
🌿
🌾🌾🌾
जीवन का सबसे बड़ा अपराध – किसी की आँख में आंसू आपकी वजह से होना।
और
जीवन की सबसे बड़ी उपलब्धि – किसी की आँख में आंसू आपके लिए होना।
🌿
🌾🌾🌾
जिंदगी जीना आसान नहीं होता;
बिना संघर्ष कोई महान नहीं होता;
जब तक न पड़े हथोड़े की चोट;
पत्थर भी भगवान नहीं होता।
🌿
🌾🌾🌾
जरुरत के मुताबिक जिंदगी जिओ – ख्वाहिशों के मुताबिक नहीं।
क्योंकि जरुरत तो फकीरों की भी पूरी हो जाती है;
और ख्वाहिशें बादशाहों की भी अधूरी रह जाती है।
🌿
🌾🌾🌾
मनुष्य सुबह से शाम तक काम करके उतना नहीं थकता;
जितना क्रोध और चिंता से एक क्षण में थक जाता है।
🌿
🌾🌾🌾
दुनिया में कोई भी चीज़ अपने आपके लिए नहीं बनी है।
जैसे:
दरिया – खुद अपना पानी नहीं पीता।
पेड़ – खुद अपना फल नहीं खाते।
सूरज – अपने लिए हररात नहीं देता।
फूल – अपनी खुशबु अपने लिए नहीं बिखेरते।
मालूम है क्यों?
क्योंकि दूसरों के लिए ही जीना ही असली जिंदगी है।
🌿
🌾🌾🌾
मांगो तो अपने रब से मांगो;
जो दे तो रहमत और न दे तो किस्मत;
लेकिन दुनिया से हरगिज़ मत माँगना;
क्योंकि दे तो एहसान और न दे तो शर्मिंदगी।
🌿
🌾🌾🌾
कभी भी ‘कामयाबी’ को दिमाग और ‘नकामी’ को दिल में जगह नहीं देनी चाहिए।
क्योंकि, कामयाबी दिमाग में घमंड और नकामी दिल में मायूसी पैदा करती है।
🌿
🌾🌾🌾
कौन देता है उम्र भर का सहारा। लोग तो जनाज़े में भी कंधे बदलते रहते हैं।
🌿
🌾🌾🌾
कोई व्यक्ति कितना ही महान क्यों न हो, आंखे मूंदकर उसके पीछे न चलिए।
यदि ईश्वर की ऐसी ही मंशा होती तो वह हर प्राणी को आंख, नाक, कान, मुंह, मस्तिष्क आदि क्यों देता?
🌿



जीवन में कभी समझौता करना पड़े तो कोई बड़ी बात
नहीं है,
क्योंकि,
झुकता वही है जिसमें जान होती है,
अकड़ तो मुरदे की पहचान होती है।

ज़िन्दगी जीने के दो तरीके होते है!
पहला: जो पसंद है उसे हासिल करना सीख लो.!
दूसरा: जो हासिल है उसे पसंद करना सीख लो.!

जिंदगी जीना आसान नहीं होता; बिना संघर्ष कोई
महान नहीं होता.!

जिंदगी बहुत कुछ सिखाती है;
कभी हंसती है तो कभी रुलाती है; पर जो हर हाल में
खुश रहते हैं; जिंदगी उनके आगे सर झुकाती है।

चेहरे की हंसी से हर गम चुराओ; बहुत कुछ बोलो पर
कुछ ना छुपाओ;

खुद ना रूठो कभी पर सबको मनाओ;

राज़ है ये जिंदगी का बस जीते चले जाओ।



दिन है सुहाना आज पहली तारीख है..

खुश है जमाना आज पहली तारीख है..

मीठा है खाना आज पहली तारीख है..

करो ना बहाना आज पहली तारीख है.

**सुप्रभात **.



Explore Good Morning SMS poems

👌सोने में जब जड़ कर हीरा,
आभूषण बन जाता है,
वह आभूषण फिर सोने का नही,
हीरे का कहलाता है ।
“काया इंसान की सोना है,
और कर्म हीरा कहलाता है,
कर्मो के निखार से ही,
मूल्य सोने का बढ़ जाता है.।
💐🌹💐🌹💐🌹💐🌹💐

“कल का दिन किसने देखा है, आज का दिन हम खोएँ क्यों,
जिन घड़ियों में हँस सकते हैं, उन घड़ियों में रोएँ क्यों.?”
😊😊😊



Explore Good Morning SMS poems

कन्यादान हुआ जब पूरा,आया समय विदाई का ।।
हँसी खुशी सब काम हुआ था,सारी रस्म अदाई का ।
बेटी के उस कातर स्वर ने,बाबुल को झकझोर दिया ।।
पूछ रही थी पापा तुमने,क्या सचमुच में छोड़ दिया ।।
अपने आँगन की फुलवारी,मुझको सदा कहा तुमने ।।
मेरे रोने को पल भर भी ,बिल्कुल नहीं सहा तुमने ।।
क्या इस आँगन के कोने में, मेरा कुछ स्थान नहीं ।।
अब मेरे रोने का पापा,तुमको बिल्कुल ध्यान नहीं ।।
देखो अन्तिम बार देहरी,लोग मुझे पुजवाते हैं ।।
आकर के पापा क्यों इनको,आप नहीं धमकाते हैं।।
नहीं रोकते चाचा ताऊ,भैया से भी आस नहीं।।
ऐसी भी क्या निष्ठुरता है,कोई आता पास नहीं।।
बेटी की बातों को सुन के ,पिता नहीं रह सका खड़ा।।
उमड़ पड़े आँखों से आँसू,बदहवास सा दौड़ पड़ा ।।
कातर बछिया सी वह बेटी,लिपट पिता से रोती थी ।।
जैसे यादों के अक्षर वह,अश्रु बिंदु से धोती थी ।।
माँ को लगा गोद से कोई,मानो सब कुछ छीन चला।।
फूल सभी घर की फुलवारी से कोई ज्यों बीन चला।।
छोटा भाई भी कोने में,बैठा बैठा सुबक रहा ।।
उसको कौन करेगा चुप अब,वह कोने में दुबक रहा।।
बेटी के जाने पर घर ने,जाने क्या क्या खोया है।।
कभी न रोने वाला बापू,फूट फूट कर रोया है



Explore Interesting SMS poems

किसी कवि ने क्या खूब लिखा है।
बिक रहा है पानी,पवन बिक न जाए ,
बिक गयी है धरती, गगन बिक न जाए
चाँद पर भी बिकने लगी है जमीं .,
डर है की सूरज की तपन बिक न जाए ,
हर जगह बिकने लगी है स्वार्थ नीति,
डर है की कहीं धर्म बिक न जाए ,
देकर दहॆज ख़रीदा गया है अब दुल्हे को ,
कही उसी के हाथों दुल्हन बिक न जाए ,
हर काम की रिश्वत ले रहे अब ये नेता ,
कही इन्ही के हाथों वतन बिक न जाए ,
सरे आम बिकने लगे अब तो सांसद ,
डर है की कहीं संसद भवन बिक न जाए ,
आदमी मरा तो भी आँखें खुली हुई हैं
डरता है मुर्दा , कहीं कफ़न बिक न जाए।…..



Explore Interesting SMS poems

प्यारी प्यारी बाते
.
.
.
कुछ बातें सुनने में तो बड़ी सामान्य लगती हे
पर उनके अर्थ को समझे तो जीवन बदल सकती हे।

जिस आदमी को गुस्सा ज्यादा आता है
वह प्यार भी उतना ही ज्यादा करता है
और उतना ही साफ दिल रखता है ।

अगर तुम सारी जिंदगी के लिए किसी
को दोस्त रखना चाहते हो अपने दिल
मे कब्र बना लो ताकि तुम अपने दोस्त
की गलती दफन कर सको ।

दोस्त चाहे कितना भी बुरा हो जाय
उससे दोस्ती मत तोड़ो क्योंकि पानी
चाहे कितना भी गंदा हो जाय आग
बुझाने के काम आता ही है

लोगों के दिलो मे अपनी भी जगह इस
तरह बना लो कि मर जाओ तो दूआ
करे जिन्दा रहो तो मिलने की तमन्ना रखे ।

🍁🍂🍁🍂🍁🍂🍁

कभी किसी इंसान को जिन्दगी का
राजदार न बनाओ क्योंकि आदमी
बड़ा खुदगर्ज है जब आपको पसंद
करता है तो आपकी बुराई को भुल
जाता है और जब नफरत करता है तो
आपकी अच्छाई भुल जाता है ।

🍁🍂🍁🍂🍁🍂🍁🍂🍁

किसी शायर ने भी क्या खूब कहा हे …..

खामोश चहरे पर हजारो पहरे होते है,
हँसती आँखों में भी जख्म गहरे होते है।
जिनसे अक्सर रूठ जाते है हम ,
असल में उनसे ही रिश्ते ज्यादा गहरे होते है ।

🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹



Explore Interesting SMS poems

दिया मिट्टी का है
या सोने का,
यह महत्वपूर्ण नहीं है
बल्कि वो अंधेरे में
प्रकाश कितना देता है
यह महत्वपूर्ण है

उसी तरह मित्र
गरीब है या अमीर है,
यह महत्वपूर्ण नहीं है

बल्कि वो तुम्हारी
मुसीबत मे तुम्हारा
कितना साथ देता है
यह महत्वपूर्ण है
🍀🍃🍀🍃🍀🍃🍀🍃🍀⁠⁠⁠⁠



Explore Interesting SMS poems

नौकरी में मजे करने के मूल मंत्र
१.बने रहो पगला, काम करेगा अगला।
२.बने रहो लुल, तनखा लो फुल।
३.जिसने ली टेंशन, उसकी पत्नि लेगी पेंशन।
४.काम से डरो नहीं और काम को करो नहीं।
५.काम करो या न करो, काम की फिक्र जरूर करो।
६.फिक्र करो या न करो, फिक्र की जिक्र जरूर करो।
७.जो काम करे, उसे अंगुली करो और जो काम न करे उसकी चुगली करो।
*
*
नुस्खा आजमाया हुआ और मुफीद है। जरूर आजमायें।



Explore Funny Jokes poems

🍃रहता हूं किराये के घर में..
रोज़ सांसों को बेच कर किराया चूकाता हूं..
मेरी औकात है बस मिट्टी जितनी..
बात मैं महल मिनारों की कर जाता हूं..
जल जायेगा ये मेरा घर इक दिन..
फिर भी इसकी खूबसूरती पर इतराता हूं..
खुद के सहारे मैं श्मशान तक भी ना जा सकूंगा..
इसीलिए जमाने में दोस्त बनाता हूँ..🍃



Explore Friendship SMS poems

“ज़िंदगी भर नहीं भूलेगी वो बरसात की रात
एक अंजान हसीना से मुलाकात की रात
हाय वो रेशमी ज़ुल्फ़ों से बरसता पानी
फूल से गालों पे रुकने को तरसता पानी
दिल में तूफ़ान उठाते हुए
दिल में तूफ़ान उठाते हुए हालात की रात.”



Explore Interesting SMS poems

. ▪▪▪▪
मिठास
〰〰〰〰

चाय का कप लेकर आप
खिड़की के पास बैठे हों
और बाहर के सुंदर नज़ारे का
आनंद लेते हुए चाय की चुस्की लेते हैं
…..अरे चीनी डालना तो भूल ही गये..;

और तभी फिर से किचन मेँ जाकर
चीनी डालने का आलस आ गया….
आज फीकी चाय को जैसे तैसे
पी गए,कप खाली कर दिया

तभी आपकी नज़र कप के तल
में पड़ी बिना घुली चीनी पर
पडती है..!!
मुख पर मुस्कुराहट लिए सोच में पड
गये…चम्मच होता तो मिला लेता

हमारे जीवन मे भी कुछ ऐसा ही है…
सुख ही सुख बिखरा पड़ा है
हमारे आस पास…
लेकिन,
बिन घुली उस चीनी की तरह !!

थोड़ा सा ध्यान दें-
किसी के साथ हँसते-हँसते उतने ही
हक से रूठना भी आना चाहिए !
अपनो की आँख का पानी
धीरे से पोंछना आना चाहिए !
रिश्तेदारी और दोस्ती में कैसा
मान अपमान ?
बस अपनों के दिल मे रहना
आना चाहिए…!

प्यार एवं सत्संग रूपी चम्मच
से जीवन में मिठास घोलनी चाहिए!!

🙏♑🙏



Explore Interesting SMS poems

Superb lines…..
ऐ मेरे स्वामी,
तुने गुल को गुलशन मै जगह दी
पानी को दरीया मै जगह दी
पन्छियो को आसमान मे जगह दी ,
तु उस शक्श को मोक्ष मै जगह देना जिसने मुझे “..9..”महिने
पेट मै जगह दी…

🙏 🙏 !! माॅ !!🙏 🙏



Explore Interesting SMS poems

दुर्योधन ने श्री कृष्ण की पूरी नारायणी सेना मांग ली थी।
और अर्जुन ने केवल श्री कृष्ण को मांगा था।

उस समय भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन की चुटकी (मजाक) लेते हुए कहा:-
हार निश्चित हैं तेरी, हर दम रहेगा उदास ।
माखन दुर्योधन ले गया, केवल छाछ बची तेरे पास ।
अर्जुन ने कहा :- हे प्रभु
जीत निश्चित हैं मेरी, दास हो नहीं सकता उदास ।
माखन लेकर क्या करूँ, जब माखन चोर हैं मेरे पास ।
God is always with me🌷



Explore Interesting SMS poems

Is kavita ko sabhi groups me bhejne ki sewa kare please…..

एक बार इस कविता को दिल से पढ़िये
शब्द शब्द में गहराई है…

जब आंख खुली तो अम्‍मा की
गोदी का एक सहारा था
उसका नन्‍हा सा आंचल मुझको
भूमण्‍डल से प्‍यारा था

उसके चेहरे की झलक देख
चेहरा फूलों सा खिलता था
उसके स्‍तन की एक बूंद से
मुझको जीवन मिलता था

हाथों से बालों को नोंचा
पैरों से खूब प्रहार किया
फिर भी उस मां ने पुचकारा
हमको जी भर के प्‍यार किया

मैं उसका राजा बेटा था
वो आंख का तारा कहती थी
मैं बनूं बुढापे में उसका
बस एक सहारा कहती थी

उंगली को पकड. चलाया था
पढने विद्यालय भेजा था
मेरी नादानी को भी निज
अन्‍तर में सदा सहेजा था

मेरे सारे प्रश्‍नों का वो
फौरन जवाब बन जाती थी
मेरी राहों के कांटे चुन
वो खुद गुलाब बन जाती थी

मैं बडा हुआ तो कॉलेज से
इक रोग प्‍यार का ले आया
जिस दिल में मां की मूरत थी
वो रामकली को दे आया

शादी की पति से बाप बना
अपने रिश्‍तों में झूल गया
अब करवाचौथ मनाता हूं
मां की ममता को भूल गया

हम भूल गये उसकी ममता
मेरे जीवन की थाती थी
हम भूल गये अपना जीवन
वो अमृत वाली छाती थी

हम भूल गये वो खुद भूखी
रह करके हमें खिलाती थी
हमको सूखा बिस्‍तर देकर
खुद गीले में सो जाती थी

हम भूल गये उसने ही
होठों को भाषा सिखलायी थी
मेरी नीदों के लिए रात भर
उसने लोरी गायी थी

हम भूल गये हर गलती पर
उसने डांटा समझाया था
बच जाउं बुरी नजर से
काला टीका सदा लगाया था

हम बडे हुए तो ममता वाले
सारे बन्‍धन तोड. आए
बंगले में कुत्‍ते पाल लिए
मां को वृद्धाश्रम छोड आए

उसके सपनों का महल गिरा कर
कंकर-कंकर बीन लिए
खुदग़र्जी में उसके सुहाग के
आभूषण तक छीन लिए

हम मां को घर के बंटवारे की
अभिलाषा तक ले आए
उसको पावन मंदिर से
गाली की भाषा तक ले आए

मां की ममता को देख मौत भी
आगे से हट जाती है
गर मां अपमानित होती
धरती की छाती फट जाती है

घर को पूरा जीवन देकर
बेचारी मां क्‍या पाती है
रूखा सूखा खा लेती है
पानी पीकर सो जाती है

जो मां जैसी देवी घर के
मंदिर में नहीं रख सकते हैं
वो लाखों पुण्‍य भले कर लें
इंसान नहीं बन सकते हैं

मां जिसको भी जल दे दे
वो पौधा संदल बन जाता है
मां के चरणों को छूकर पानी
गंगाजल बन जाता है

मां के आंचल ने युगों-युगों से
भगवानों को पाला है
मां के चरणों में जन्‍नत है
गिरिजाघर और शिवाला है

हिमगिरि जैसी उंचाई है
सागर जैसी गहराई है
दुनियां में जितनी खुशबू है
मां के आंचल से आई है

मां कबिरा की साखी जैसी
मां तुलसी की चौपाई है
मीराबाई की पदावली
खुसरो की अमर रूबाई है

मां आंगन की तुलसी जैसी
पावन बरगद की छाया है
मां वेद ऋचाओं की गरिमा
मां महाकाव्‍य की काया है

मां मानसरोवर ममता का
मां गोमुख की उंचाई है
मां परिवारों का संगम है
मां रिश्‍तों की गहराई है

मां हरी दूब है धरती की
मां केसर वाली क्‍यारी है
मां की उपमा केवल मां है
मां हर घर की फुलवारी है

सातों सुर नर्तन करते जब
कोई मां लोरी गाती है
मां जिस रोटी को छू लेती है
वो प्रसाद बन जाती है

मां हंसती है तो धरती का
ज़र्रा-ज़र्रा मुस्‍काता है
देखो तो दूर क्षितिज अंबर
धरती को शीश झुकाता है

माना मेरे घर की दीवारों में
चन्‍दा सी मूरत है
पर मेरे मन के मंदिर में
बस केवल मां की मूरत है

मां सरस्‍वती लक्ष्‍मी दुर्गा
अनुसूया मरियम सीता है
मां पावनता में रामचरित
मानस है भगवत गीता है

अम्‍मा तेरी हर बात मुझे
वरदान से बढकर लगती है
हे मां तेरी सूरत मुझको
भगवान से बढकर लगती है

सारे तीरथ के पुण्‍य जहां
मैं उन चरणों में लेटा हूं
जिनके कोई सन्‍तान नहीं
मैं उन मांओं का बेटा हूं

हर घर में मां की पूजा हो
ऐसा संकल्‍प उठाता हूं
मैं दुनियां की हर मां के
चरणों में ये शीश झुकाता हूं…



Explore poems

विज्ञान चालीसा, एक बार ज़रूर पढ़ें
****************************************
जय न्यूटन विज्ञान के आगर,
गति खोजत ते भरि गये सागर ।…
ग्राहम् बेल फोन के दाता,
जनसंचार के भाग्य विधाता ।
बल्ब प्रकाश खोज करि लीन्हा,
मित्र एडीशन परम प्रवीना ।
बायल और चाल्स ने जाना,
ताप दाब सम्बन्ध पुराना ।
नाभिक खोजि परम गतिशीला,
रदरफोर्ड हैं अतिगुणशीला ।
खोज करत जब थके टामसन,
तबहिं भये इलेक्ट्रान के दर्शन ।
जबहिं देखि न्यट्रोन को पाए,
जेम्स चैडविक अति हरषाये ।
भेद रेडियम करत बखाना,
मैडम क्यूरी परम सुजाना ।
बने कार्बनिक दैव शक्ति से,
बर्जीलियस के शुद्ध कथन से ।
बनी यूरिया जब वोहलर से,
सभी कार्बनिक जन्म यहीं से ।
जान डाल्टन के गूँजे स्वर,
आशिंक दाब के योग बराबर ।
जय जय जय द्विचक्रवाहिनी,
मैकमिलन की भुजा दाहिनी ।
सिलने हेतु शक्ति के दाता,
एलियास हैं भाग्यविधाता ।
सत्य कहूँ यह सुन्दर वचना,
ल्यूवेन हुक की है यह रचना ।
कोटि सहस्र गुना सब दीखे,
सूक्ष्म बाल भी दण्ड सरीखे ।
देखहिं देखि कार्क के अन्दर,
खोज कोशिका है अति सुन्दर ।
काया की जिससे भयी रचना,
राबर्ट हुक का था यह सपना ।
टेलिस्कोप का नाम है प्यारा,
मुट्ठी में ब्रम्हाण्ड है सारा ।
गैलिलियो ने ऐसा जाना,
अविष्कार परम पुराना ।
विद्युत है चुम्बक की दाता,
सुंदर कथन मनहिं हर्षाता ।
पर चुम्बक से विद्युत आई,
ओर्स्टेड की कठिन कमाई ।
ओम नियम की कथा सुहाती,
धारा विभव है समानुपाती ।
एहि सन् उद्गगम करै विरोधा,
लेन्ज नियम अति परम प्रबोधा ।
चुम्बक विद्युत देखि प्रसंगा,
फैराडे मन उदित तरंगा ।
धारा उद्गगम फिरि मन मोहे,
मान निगेटिव फ्लक्स के होवे ।
जय जगदीश सबहिं को साजे,
वायरलेस अब हस्त बिराजै ।
अलेक्जेंडर फ्लेमिंग आए,
पैसिंलिन से घाव भराये ।
आनुवांशिकी का यह दान,
कर लो मेण्डल का सम्मान ।
डा रागंजन सुनहु प्रसंगा,
एक्स किरण की उज्ज्वल गंगा ।
मैक्स प्लांक के सुन्दर वचना,
क्वाण्टम अंक उन्हीं की रचना ।
फ्रैंकलिन की अजब कहानी,
देखि पतंग प्रकृति हरषानी ।
डार्विन ने यह रीति बनाई,
सरल जीव से सॄष्टि रचाई ।
परि प्रकाश फोटान जो धाये,
आइंस्टीन देखि हरषाए ।
षष्ठ भुजा में बेंजीन आई,
लगी केकुले को सुखदाई ।
देखि रेडियो मारकोनी का,
मन उमंग से भरा सभी का ।
कृत्रिम जीन का तोहफा लैके,
हरगोविंद खुराना आए ।
ऊर्जा की परमाणु इकाई,
डॉ भाषा के मन भाई ।
थामस ग्राहम अति विख्याता,
गैसों के विसरण के ज्ञाता ।
जो यह पढ़े विज्ञान चालीसा,
देइ उसे विज्ञान आशीषा ।



Explore Funny Jokes poems

तू जिंदगी को जी,
उसे समझने की कोशिश न कर

सुन्दर सपनो के ताने बाने बुन,
उसमे उलझने की कोशिश न कर

चलते वक़्त के साथ तू भी चल,
उसमे सिमटने की कोशिश न कर

अपने हाथो को फैला, खुल कर साँस ले,
अंदर ही अंदर घुटने की कोशिश न कर

मन में चल रहे युद्ध को विराम दे,
खामख्वाह खुद से लड़ने की कोशिश न कर

कुछ बाते भगवान् पर छोड़ दे,
सब कुछ खुद सुलझाने की कोशिश न कर

जो मिल गया उसी में खुश रह,
जो सकून छीन ले वो पाने की कोशिश न कर

रास्ते की सुंदरता का लुत्फ़ उठा,
मंजिल पर जल्दी पहुचने की कोशिश न कर !🌹🌷



Explore Interesting SMS poems

प्रभु कहते है….!!

होती आरती, बजते शंख,
पूजा में सब खोए है,

मंदिर के बाहर तो देखो,
भूखे बच्चे सोए है |

एक निवाला इनको देना,
प्रसाद मुझे चढ जायेगा,

मेरे दर पर माँगने वाले,
तुझे बिन माँगे सब मिल जायेगा ! 👏🙏

🙏🙏🙏शुपभात 🙏🙏🙏
हर हर महादेव



Explore Interesting SMS poems

सुन्दर कविता जिसके अर्थ काफी गहरे हैं……..

मैंने .. हर रोज .. जमाने को .. रंग बदलते देखा है ….
उम्र के साथ .. जिंदगी को .. ढंग बदलते देखा है .. !!

वो .. जो चलते थे .. तो शेर के चलने का .. होता था गुमान..
उनको भी .. पाँव उठाने के लिए .. सहारे को तरसते देखा है !!

जिनकी .. नजरों की .. चमक देख .. सहम जाते थे लोग ..
उन्ही .. नजरों को .. बरसात .. की तरह ~~ रोते देखा है .. !!

जिनके .. हाथों के .. जरा से .. इशारे से .. टूट जाते थे ..पत्थर ..
उन्ही .. हाथों को .. पत्तों की तरह .. थर थर काँपते देखा है .. !!

जिनकी आवाज़ से कभी .. बिजली के कड़कने का .. होता था भरम ..
उनके .. होठों पर भी .. जबरन .. चुप्पी का ताला .. लगा देखा है .. !!

ये जवानी .. ये ताकत .. ये दौलत ~~ सब कुदरत की .. इनायत है ..
इनके .. रहते हुए भी .. इंसान को ~~ बेजान हुआ देखा है … !!

अपने .. आज पर .. इतना ना .. इतराना ~~ मेरे .. यारों ..
वक्त की धारा में .. अच्छे अच्छों को ~~ मजबूर हुआ देखा है .. !!!

कर सको……तो किसी को खुश करो……दुःख देते ……..तो हजारों को देखा है..



Explore poems

बचपन कि ये लाइन्स .
जिन्हे हम दिल से गाते
गुनगुनाते थे ..
और खेल खेलते थे ..!!
तो याद ताज़ा कर लीजिये …!!

▶ मछली जल की रानी है,
जीवन उसका पानी है।
हाथ लगाओ डर जायेगी
बाहर निकालो मर जायेगी।

************

▶ पोशम्पा भाई पोशम्पा,
सौ रुपये की घडी चुराई।
अब तो जेल मे जाना पडेगा,
जेल की रोटी खानी पडेगी,
जेल का पानी पीना पडेगा।
थै थैयाप्पा थुशमदारी बाबा खुश।

************

▶ आलू-कचालू बेटा कहाँ गये थे,
बन्दर की झोपडी मे सो रहे थे।
बन्दर ने लात मारी रो रहे थे,
मम्मी ने पैसे दिये हंस रहे थे।

**************

▶ आज सोमवार है,
चूहे को बुखार है।
चूहा गया डाक्टर के पास,
डाक्टर ने लगायी सुई,
चूहा बोला उईईईईई।

************

▶ झूठ बोलना पाप है,
नदी किनारे सांप है।
काली माई आयेगी,
तुमको उठा ले जायेगी।

************

▶ चन्दा मामा दूर के,
पूए पकाये भूर के।
आप खाएं थाली मे,
मुन्ने को दे प्याली में।

************

▶ तितली उड़ी,
बस मे चढी।
सीट ना मिली,
तो रोने लगी।
ड्राईवर बोला,
आजा मेरे पास,
तितली बोली ” हट बदमाश “।

******************

▶ मोटू सेठ,
पलंग पर लेट ,
गाडी आई,
फट गया पेट

********************

😍😄😘😝👊👌👏👍🙏
आज सब अपना बचपन याद करो



Explore poems

વજન વગર ની
👂વાત નકામી

🙏ભજન વગર ની
🌚રાત નકામી

👬સંગઠન વગર ની
⛄નાત નકામી

👥માનવતા વગર ની
👼 જાત નકામી

💭કહ્યું ન માને એ
🙅નાર નકામી

🙇બેસી જાય તેવી
🐴ઘોડી નકામી

💨બ્રેક વગર ની
🚗કાર નકામી

💰પૂંજી સાવ
💸અધૂરી નકામી

✒સમજણ સાવ
✂થોડી નકામી

📝ભણતર વગર નું
👪 જીવન નકામું

🍯સ્વાદ વગર નું
🍜જમણ નકામું

👃સુગંધ વગર નું
🌹ફુલ નકામું

😇સુધારે નહીં તેવો
👋માર નકામો

🙊બોલ્યો ફરે એ
👨બંદો નકામો

📦કઈ ઉપાડે નહીં તે
💪કાંધો નકામો

🚪છોલે નહીં તે
🔪રનધો નકામો

💷નફા વગર નો
🏪ધંધો નકામો

👎ખરાબ 🕑સમયમાં
જે સાથ ન આપે તે 🙌
👦મિત્ર નકામો…..✋😇✌

👦गृप मां काइ न मुके
ऐवा मेम्बर नकामां😔😔
👎👎 👋👋👏👏



Explore poems

जिम्मेदारियां ओढ़ के निकलता हूँ घर से यारो…
वरना, बारिशों में भीगने का शौक तो अब भी है….!!
वो बचपन के दिन लौटा दे ऐ खुदा…..

जहाँ न दोस्त का मतलब पता था
और
न मतलब की दोस्ती….
“उम्र” और “ज़िन्दगी” में बस फर्क “इतना”

जो “दोस्तों” के बिन बीति वो “उम्र”    और जो दोस्तों के “साथ” “गुज़री” वो “ज़िन्दगी”



Explore Friendship SMS poems

अर्ज किया है…
बिगड़ी हुई जिंदगी की.. कुछ
इतनी सी कहानी है….
बिगड़ी हुई जिंदगी की.. कुछ
इतनी सी कहानी है…..
थोड़े हम..बचपन से नालायक थे..
और..
बाकी.. aapki
की मेहरबानी है ….
कुछ सही तो कुछ खराब कहते हैं,
लोग हमें बिगड़ा हुआ नवाब कहते
हैं,
हम तो बदनाम हुए कुछ इस कदर,
की पानी भी पियें तो लोग
शराब कहते हैं…!!!
लोगो से कह
दो हमारी तकदीर से
जलना छोड़ दे,
हम घर से दवा नही मां
की दुआ लेकर निकलते है… !!!
कोई ना दे हमें खुश रहने की दुआ,
तो भी कोई बात नहीं…
वैसे भी हम खुशियाँ रखते नहीं,
बाट दिया करते है…!!!



Explore Interesting SMS poems

👉 टाहनी🌿से टूटे फूल🌹 कभी दुबारा नहीं जुड़ते🌹उसी तरह बीते हुए पल⏰ कभी वापस नहीं मुड़ते…..
सो जो बीत🔙 गया उसे क्या सोचना
आज को प्यार😍करो
और कल को तैयार😊 करो….
ईक सुंदर और प्यारी सी  मुस्कान😆 के साथ ….. 😎
🌄शुभ प्रभात🌷दोस्तों🙏🌹☕🚩



Explore Good Morning SMS poems

आशाएं ऐसी हो जो-
मंज़िल तक ले जाएँ,
मंज़िल ऐसी हो जो-
जीवन जीना सीखा दे,
जीवन ऐसा हो जो-
संबंधों की कदर करे,
और संबंध ऐसे हो जो-
याद करने को मजबूर करदे ।

✨✨Good Morning✨



Explore poems

⚠Very Nice Lines⚠

“क्या फर्क पड़ता है,
हमारे पास कितने लाख,
कितने करोड़,
कितने घर,
कितनी गाड़ियां हैं,

खाना तो बस दो ही रोटी है।
जीना तो बस एक ही ज़िन्दगी है।

फर्क इस बात से पड़ता है,
कितने पल हमने ख़ुशी से बिताये,
कितने लोग हमारी वजह से खुशी से जीए ..
क्या खुब लिखा है किसी ने …

“बक्श देता है ‘खुदा’ उनको, … !
जिनकी ‘किस्मत’ ख़राब होती है … !!

वो हरगिज नहीं ‘बक्शे’ जाते है, … !
जिनकी ‘नियत’ खराब होती है… !!”

न मेरा ‘एक’ होगा, न तेरा ‘लाख’ होगा, … !
न ‘तारिफ’ तेरी होगी, न ‘मजाक’ मेरा होगा … !!

गुरुर न कर “शाह-ए-शरीर” का, … !
मेरा भी ‘खाक’ होगा, तेरा भी ‘खाक’ होगा … !!

जिन्दगी भर ‘ब्रांडेड-ब्रांडेड’b करने
वालों … !
याद रखना ‘कफ़न’ का कोई ब्रांड नहीं होता … !!

कोई रो कर ‘दिल बहलाता’ है … !
और कोई हँस कर ‘दर्द’ छुपाता है … !!

क्या करामात है ‘कुदरत’ की, … !
‘ज़िंदा इंसान’ पानी में डूब जाता है और ‘मुर्दा’ तैर के
दिखाता है … !!

‘मौत’ को देखा तो नहीं, पर शायद ‘वो’ बहुत
“खूबसूरत” होगी, … !
“कम्बख़त” जो भी ‘उस’ से मिलता है,
“जीना छोड़ देता है” … !!

‘ग़ज़ब’ की ‘एकता’ देखी “लोगों की ज़माने
में” … !
‘ज़िन्दों’ को “गिराने में” और ‘मुर्दों’ को “उठाने
में” … !!

‘ज़िन्दगी’ में ना ज़ाने कौनसी बात “आख़री”
होगी, … !
ना ज़ाने कौनसी रात “आख़री” होगी ।

मिलते, जुलते, बातें करते रहो यार एक दूसरे से ……..ना जाने कौनसी “मुलाक़ात” “आख़री होगी” … !!❤



Explore Interesting SMS poems

नज़र रखो अपने ‘विचार’ पर,
क्योंकि वे ”शब्द” बनते हैँ।
नज़र रखो अपने ‘शब्द’ पर,
क्योंकि वे ”कार्य” बनते हैँ।
नज़र रखो अपने ‘कार्य’ पर,
क्योंकि वे ”स्वभाव” बनते हैँ।
नज़र रखो अपने ‘स्वभाव’ पर,
क्योंकि वे ”आदत” बनते हैँ।
नज़र रखो अपने ‘आदत’ पर,
क्योंकि वे ”चरित्र” बनते हैँ।
नज़र रखो अपने ‘चरित्र’ पर,
क्योंकि उससे ”जीवन आदर्श” बनते हैं।



Explore Interesting SMS poems

Fact Of My Life…

नाम छोटा है मगर दिल बडा रखता हूँ|

पैसो से उतना अमीर नही हूँ, मगर अपने यारो के गम खरिदने की हैसयत रखता हूँ|

मुझे ना हुकुम का ईक्का बनना है ना रानी का बादशाह,
हम जोकर ही अच्छे हैं, जिस के नसीब में आऐंगे बाज़ी पलट देंगे।

किसी रोज़ याद न कर पाऊँ तो खुदग़रज़ ना समझ लेना दोस्तो,
दरअसल छोटी सी इस उम्र मैं परेशानियां बहुत हैं…

मैं भूला नहीं हूँ किसी को…
मेरे बहुत कम दोस्त है ज़माने में…

बस थोड़ी जिंदगी उलझी पड़ी है…
2 वक़्त की रोटी कमाने में…

😔😔😔



Explore Interesting SMS poems

🌱🌹शुभप्रभात🌹🌱
✏…..,
” 🍁आंखे कितनी भी छोटी क्यो ना हो !!
ताकत तो उसमे सारा आसमान देखने
की होती है !!
ज़िन्दगी एक हसीन ख़्वाब है ,,,,,
जिसमें जीने की चाहत होनी चाहिये,
ग़म खुद ही ख़ुशी में बदल जायेंगे,.,,
सिर्फ मुस्कुराने की आदत होनी चाहिये! 🍁”

G⭕⭕D 〽⭕➰N❗NG

🌺🍀🌺🍀🌺
🌺🍀🌺🍀🌺



Explore Good Morning SMS poems

यार से ऐसी यारी रख
दुःख में भागीदारी रख,
चाहे लोग कहे कुछ भी
तू तो जिम्मेदारी रख,
वक्त पड़े काम आने का
पहले अपनी बारी रख,
मुसीबते तो आएगी
पूरी अब तैयारी रख,
कामयाबी मिले ना मिले
जंग हौंसलों की जारी रख,
बोझ लगेंगे सब हल्के
मन को मत भारी रख,
मन जीता तो जग जीता
कायम अपनी खुद्दारी रख…….🌹🌹



Explore Interesting SMS poems

ओलेचिंब houn…

पहिलेच पाऊस मे मुंबई भरी..
काम के लोक बैठे है घरी

गटार का पानी रस्ते पे आया
सारा शहर ओलाचिंब होया

न्युज चानल पे पाऊस की बातमी
देख के थक गया सामान्य आदमी

सुबह को जब मै बाजार मे गया
कुछ नही मिला तो बोंबील लेके आया

राजकारन के वजह से मुंबई को क्या सहना पडेगा..
देवा तुम ही वाचवना उसको जो भी आजारी पडेगा

– नाव सांगने की गरज नही
😄😄😄😝😂😝😄😂



कविता for all Daddy’s👤

वो पिता👤 होता है
वो पिता👤 ही होता है

जो अपने बच्चो को अच्छे
विद्यालय में पढ़ाने के लिए
दौड भाग करता है…

उधार लाकर donation भरता
है, जरूरत पड़ी तो किसी के भी
हाथ पैर भी पड़ता है
……. वो पिता👤 होता हैं ।।

हर कोलेज में साथ👥साथ
घूमता है, बच्चे के रहने के
लिए होस्टल ढुँढता है…
स्वतः फटे कपडे पहनता है
और बच्चे के लिए नयी जीन्स👖
टी-शर्ट लाता है
………. वो पिता👤 होता है ।।

खुद खटारा फोन📞 वपरता है पर
बच्चे के लिए स्मार्ट फोन लाता है…

बच्चे की एक आवाज सुनने के
लिए, उसके फोन में पैसा भरता है
……. वो पिता👤 होता है ।

बच्चे के प्रेम विवाह के निर्णय पर
वो नाराज़ होता है और गुस्से
में कहता है सब ठीक से देख
लिया है ना, “आपको कुछ
समजता भी है?” यह सुन कर
बहुत रोता है
…….वो पिता👤 होता हैं ।।

बेटी की विदाई पर दिल की
गहराई से रोता है,
मेरी बेटी का ख्याल रखना हाथ
जोड़ कर कहता है
……… वो पिता👤 होता है ।।

पिता का प्यार दिखता नहीं है
सिर्फ महसूस किया जाता है।
माँ पर तो बहुत कविता लिखी
गयी है पर पिता पर नहीं।
पिता का प्यार क्या है दुनिया
को बता दो। सहमत हो तो इसे
ज्यादा से ज्यादा forward करे।
Baap jab dukhi hota hai to Maa ki tarah Rota nahi…. shayad isiliye 90% baap Heart attack se Mar
jaate hai…. so please Respect And Obey Father… kyoki Baap….. BAAP hota haii
Love u papa😘😘
If u like pls share it



Explore Interesting SMS poems

. . . . . एक प्यारी सी कविता . . . . .

” वक़्त नहीं ”

हर ख़ुशी है लोंगों के दामन में,
पर एक हंसी के लिये वक़्त नहीं….

दिन रात दौड़ती दुनिया में,
“ज़िन्दगी” के लिये ही वक़्त नहीं……

सारे रिश्तों को तो हम मार चुके,
अब उन्हें दफ़नाने का भी वक़्त नहीं …..

सारे नाम मोबाइल में हैं ,
पर “दोस्ती” के लिये वक़्त नहीं …..

गैरों की क्या बात. करें ,
जब अपनों के लिये ही वक़्त नहीं……

आखों में है नींद. भरी ,
पर सोने का वक़्त नहीं……

“दिल” है ग़मो से भरा हुआ ,
पर रोने का भी वक़्त नहीं .

पैसों की दौड़ में ऐसे दौड़े, की,,
थकने का भी वक़्त नहीं ….

पराये एहसानों की क्या कद्र करें ,
जब अपने सपनों के लिये ही वक़्त नहीं…….

तू ही बता दे ऐ ज़िन्दगी ,
इस ज़िन्दगी का क्या होगा,
की हर पल मरने वालों को,,
जीने के लिये। भी वक़्त नहीं…. ….



Explore Interesting SMS poems

पहिलेच पाऊस मे मुंबई भरी..
काम के लोक बैठे है घरी

गटार का पानी रस्ते पे आया
सारा शहर ओलाचिंब होया

न्युज चानल पे पाऊस की बातमी
देख के थक गया सामान्य आदमी

सुबह को जब मै बाजार मे गया
कुछ नही मिला तो बोंबील लेके आया

राजकारन के वजह से मुंबई को क्या सहना पडेगा..
देवा तुम ही वाचवना उसको जो भी आजारी पडेगा

-कवी नाव सांगने की गरज नही
😄😄😄😝😂😝😄😂



Explore Marathi SMS poems

एकच चहा, तो पण कटिंग…
एकच पिक्चर, तो पण टॅक्स फ्री…
एकच साद, ती पण मनापासून…
आणखी काय हवं असते मित्राकडून ?

एकच कटाक्ष, तो पण हळूच…
एकच होकार, तो पण लाजून…
एकच स्पर्श, तो ही थरथरून…
अजून काय हवं असतं प्रियेकडून ?

एकच भुताची गोष्ट, ती पण रंगवून…
एकच श्रीखंडाची वडी, ती पण अर्धी तोडून…
एक जोरदार धपाटा, ते ही शिवी हासडून…
अजून काय हवं असतं आजीकडून ?

एकच मायेची थाप, ती ही कुरवाळून…
एकच गरम पोळी, ती पण तूप लावून…
एकच आशिर्वाद, तो ही डोळ्यात आसवं आणून…
अजून काय हवं असतं आईकडून ?

एकच कठोर नकार, तो ही हृदयावर दगड ठेवून…
एकच सडेतोड उपदेश, तो पण घोगऱ्या आवाजातून…
एकच नजर अभिमानाची, ती पण आपली प्रगती पाहून…
अजून काय हवं असतं वडिलांकडून ?

सगळ्यांनी खूप दिले, ते पण न मागून…
स्वर्गच जणू मिळाला, तो पण न मागून..
फाटकी झोळी हि माझी, ती पण वाहिली भरून…
अजून काय हवं मला आयुष्याकडून ? 😇



Explore Friendship SMS Marathi SMS poems

💻💻💾💾💻💻
बिसर गया है सब कुछ, मेरी लाईफ में !
कुछ यादें बची हैं, इस दिल के पेन ड्राईव में !!

जिस दिन मैंने दुनिया में, लॉग इन किया !
सारा मोहल्ला खुशियों से रंगीन किया !!

स्कूल में मेरी, होती अक्सर पिटायी थी !
मैं 2G था, और मैडम वाईफाई थी !!

उस पर मेरा, सॉफ्टवेयर बडा पुराना था !
ट्यूब लाईट था मैं, जब CFL का जमाना था !!

गणित में तो, मैं बचपन से ही फ़्लॉप था !
भेजे का पासवर्ड, बड़े दिनों तक लॉक था !!

कितना भी मारो, भेजे को सिगनल मिलता नहीं !
बिन सिगनल, जिंदगी का नेटवर्क चलता नहीं !!

जब जब स्कूल जाने में, मैं लेट हुआ !
प्रिंसपल की डाँट से, सॉफ़्टवेयर अपडेट हुआ !!

हाईस्कूल में, ईश्क का वायरस घुस बैठा !
भेजे में सुरक्षित, सारा डाटा चूस बैठा !!

नजरों से नजरें टकरायी, 12th क्लास में !
मैसेज आया, मेरे दिल के इनबॉक्स में !!

जब जब मैंने, आगे बढकर पोक किया !
धीरे से उसने, नजरें झुकाकर रोक लिया !!

कॉलेज में देखा किसी गैर के साथ, तो मन बैठा !
ईश्क का वायरस, एंटीवायरस बन बैठा !!

वो रियल थी, लेकिन फ़ेक आईडी सी लगने
लगी !
बातों से अपनी, मेरे यारों को भी ठगने लगी !!

आयी वो वापस, दिल पे मेरे नॉक किया !
लेकिन फ़िर मैंने, खुद ही उसको ब्लॉक किया !!

मेरे जीवन में, अब प्यार के लिए स्पेस नहीं !
मैं सोनू हूँ पगली, मजनू का अवशेष नहीं !!

कॉलेज से निकला, दुनियादारी सीखने लगा !
बना मैं शायर, देशप्रेम पर लिखने लगा !!

जब दिल चाहे, तसवीर नयी बनाता हूँ !
आदमी को उसका, असली चेहरा दिखलाता हूँ !!

डरता है धान्धल, जिंदगी मेरी ना वेस्ट हो !
जो कुछ लिखूँ, सदियों तक कॉपी पेस्ट हो !!

ख्वाहिश है, मेरे गीत जहाँ में लाउड हों !
इस ‘ज़िंदगी’ का क्या है, जाने कब लॉग आउट
हो ।।
💓💓💓💓💓💓💓



Explore Interesting SMS poems

💐💐लाख टके की बात –

कोई नही देगा साथ तेरा यहॉं,
हर कोई यहॉं खुद ही में मशगुल है
जिंदगी का बस एक ही ऊसुल है..!!

तुझे गिरना भी खुद है,
और सम्हलना भी खुद है..!!

तू छोड़ दे कोशिशें,
इन्सानों को पहचानने की…!!

यहाँ जरुरतों के हिसाब से,
सब बदलते नकाब हैं…!!

अपने गुनाहों पर सौ पर्दे डालकर,
हर शख़्स कहता है, “ज़माना बड़ा ख़राब है💐💐



💠 कुछ सुंदर पंक्तियाँ 💠

👉💎 गंगा में डुबकी लगाकर,तीर्थ किए हज़ार।
इनसे क्या होगा,अगर बदले नहीँ विचार।

👉💎 “इस दुनियाँ के हर शख्स को नफरत है “झूठ” से…

मैं परेशान हूँ ये सोचकर, कि फिर ये “झूठ” बोलता कौन है”।

👉💎 “निंदा “तो उसी की होती है
जो”जिंदा” है।
मरे हुए कि तो बस तारीफ ही होती हैं।

👉💎 महसूस जब हुआ कि सारा शहर,
मुझसे जलने लगा है,
तब समझ आ गया कि अपना नाम भी,
चलने लगा है”…

👉💎 सदा उनके कर्जदार रहिये जो आपके लिए कभी खुद का वक्त नहीं देखता है,
और
सदा उनसे वफ़ादार रहिये जो व्यस्त होने के बावजूद भी आपके लिए वक़्त निकालता है।

👉💎 मोक्ष का एक ही मार्ग है।
और वह बिल्कुल सीधा ही है।
अब
मुशकिल उन्हें होती है।
जिनकी चाल ही टेड़ी है।

👉💎 हम जब दिन की शुरुआत करते है,
तब लगता है की, पैसा ही जीवन है ..
लेकिन, जब शाम को लौट कर घर आते है,
तब लगता है, शान्ति ही जीवन है ।

👉💎 फलदार पेड़ और गुणवान व्यक्ति ही झुकते है ,
सुखा पेड़ और मुर्ख व्यक्ति कभी नहीं झुकते ।

कदर किरदार की होती है… वरना…
कद में तो साया भी इंसान से बड़ा होता है…….

👉💎 पानी मर्यादा तोड़े तो “विनाश”
“और”
वाणी मर्यादा तोड़े तो “सर्वनाश”

इसलिए हमेशा अपनी वाणी पर संयम रखो



~कबीरवाणी~

माटी का एक नाग बनाके
पुजे लोग लुगाया
जिंदा नाग जब घर में निकले
ले लाठी धमकाया

जिंदा बाप कोई न पुजे
मरे बाद पुजवाया
मुठ्ठीभर चावल लेके
कौवे को बाप बनाया

यह दुनिया कितनी बावरी हैं
जो पत्थर पुजे जाय
घर की चकिया कोई न पुजे
जिसका पिसा खाय

-संत कबीर



“#फेकू_चालीसा““

दामोदर सुत फेकू नामा।
संघ के दूत जगत ये जाना।।
जय फेकू गप्पों के सागर।
फेकू नाम से हुए उजागर।।
तुमको आता फेकू आसन।
सिखलाया है फेकू भाषण।।
अपनी बीबी को था त्यागा।
छोड़के बीबी को था भागा।।
नहीं किसानों की है चिन्ता।
आम आदमी की न सुनता।।
जब से पीएम तुम्हें बनाया।
भारत में तू रुक न पाया।।
देश देश में फिरे घूमता।
दानी बनकर बहुत झूमता।।
देश की दौलत बहुत लुटाई।
तुझे जरा भी शर्म न आई।
ढ़ोंग तुम्हारे हुए उजागर।
हम पछताए तुम्हें जिताकर।।
लोगों का है मुश्किल जीना।
मँहगाई को इतना कीन्हा।।
बाबा सा जो बड़ा घमण्डी।
और भागवत सा पाखण्डी।।
तूने उन्हें सुरक्षा दी है।
अम्बानी पर कृपा जो की है।।
फूलें और फले आडानी।
झटके से बाहर अडवानी।।
जनता ने जिसको ठुकराया।
तुमने मंत्री उसे बनाया।।
बारह पास सिर्फ ईरानी।
क्या तुमने खूबी पहचानी?
शिक्षा मंत्री उसे बनाया।
उसने अभिनय तुरत दिखाया।
येल से फर्जी डिग्री पाई।
उसकी जग में हुई हँसाई।।
योगी जैसे छोड़े अजगर।
जहरीले भाषण दें अक्सर।।
अच्छे दिन कह कर बहकावें।
हिन्दु मुस्लिम बैर बढ़ावें।।
पूँजीपतियों के हित साधें।
भूले हो जो किये थे वादे।।
केवल अपनी करें बढ़ाई।
और न दे कुछ तुम्हें सुझाई।।



Explore Funny Jokes poems

Kaash aaj mera bhi school ka pehla
din hota….
woh school k doston se milna,
woh nayi books ka plastics main
rakhna,
woh school ki khidki se baarisho ki
boond dekhna,
woh first yaa last bench ka decide
karna,
woh pehle din jaatey hi half day ki
ummed aur naye rain coat ki zidd.
Duniya ki bhaag daud main sab
choot chuka woh maasum sa
bachpan piche choot chuka…



Explore Interesting SMS poems

बिसर गया है सब कुछ, मेरी लाईफ में !
कुछ यादें बची हैं, इस दिल के पेन ड्राईव में !!
:
जिस दिन मैंने दुनिया में, लॉग इन किया !
सारा मोहल्ला खुशियों से रंगीन किया !!
:
स्कूल में मेरी, होती अक्सर पिटायी थी !
मैं 2G था, और मैडम वाईफाई थी !!
:
उस पर मेरा, सॉफ्टवेयर बडा पुराना था !
ट्यूब लाईट था मैं, जब CFL का जमाना था !!
:
गणित में तो, मैं बचपन से ही फ़्लॉप था !
भेजे का पासवर्ड, बड़े दिनों तक लॉक था !!
:
कितना भी मारो, भेजे को सिगनल मिलता नहीं !
बिन सिगनल, जिंदगी का नेटवर्क चलता नहीं !!
:
जब जब स्कूल जाने में, मैं लेट हुआ !
प्रिंसपल की डाँट से, सॉफ़्टवेयर अपडेट हुआ !!
:
हाईस्कूल में, ईश्क का वायरस घुस बैठा !
भेजे में सुरक्षित, सारा डाटा चूस बैठा !!
:
नजरों से नजरें टकरायी, 10th क्लास में !
मैसेज आया, मेरे दिल के इनबॉक्स में !!
:
जब जब मैंने, आगे बढकर पोक किया !
धीरे से उसने, नजरें झुकाकर रोक लिया !!
:
कॉलेज में देखा किसी गैर के साथ, तो मन बैठा !
ईश्क का वायरस, एंटीवायरस बन बैठा !!
:
वो रियल थी, लेकिन फ़ेक आईडी सी लगने लगी !
बातों से अपनी, मेरे यारों को भी ठगने लगी !!
:
आयी वो वापस, दिल पे मेरे नॉक किया !
लेकिन फ़िर मैंने, खुद ही उसको ब्लॉक किया !!
:
मेरे जीवन में, अब प्यार के लिए स्पेस नहीं !
मैं ‘देव’ हूँ पगली, मजनू का अवशेष नहीं !!
:
कॉलेज से निकला, दुनियादारी सीखने लगा !
बना मैं शायर, देशप्रेम पर लिखने लगा !!
:
जब दिल चाहे, तसवीर नयी बनाता हूँ !
आदमी को उसका, असली चेहरा दिखलाता हूँ !!
:
डरता है दिल, जिंदगी मेरी ना वेस्ट हो !
जो कुछ लिखूँ, सदियों तक कॉपी पेस्ट हो !!
:
ख्वाहिश है, मेरे गीत जहाँ में लाउड हों !
इस ‘ज़िंदगी’ का क्या है, जाने कब लॉग आउट हो !



Explore poems

शुक्रगुजार हूँ मैं दिल की गहराई से
=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=–=
चाहे जब, चाहे जहाँ पर चले आते हैं आंसू
कोई अपना रूठ गया है, यह बताते हैं आंसू
दिल में बसे कृष्ण मगर मिल नहीं पाये तो
मीरा के होठों पर गीत बनकर
गाते हैं आंसू
मुस्कुराकर छिपाना चाहूँ तो गम नहीं छिपता
बड़े बेरहम हैं, झूठ से परदा हटाते हैं आंसू
ये हैं तो लगता है कि ‘वो’ साथ है हर पल
दिल को रेगिस्तान होने से बचाते हैं आंसू
हर आह के साथ निकलता रहा उनका नाम
मेरे साथ सुर मिलाकर गुनगुनाते हैं आंसू
जिसे साथ रहना था वो तो नहीं रहा मगर
‘उसका’ साया बनकर साथ निभाते हैं आंसू
शुक्रगुजार हूँ मैं दिल की गहराई से ‘मधु’
बिछड़ने के बाद प्यार और बढ़ाते हैं आंसू



Explore poems

कसोटी में गंगा रखो
शरीर को चंगा रखो
दिमाग़ को ठंडा रखो
जेब को गरम रखो
आँखों में शरम रखो
जुबान को नरम रखो
दिल में रहम रखो
क्रोध पर लगाम रखो
व्यवहार को साफ़ रखो
होटो पर मुस्कुराहट रखो
फिर स्वर्ग मे जाने की
क्या जरूरत, यहीं स्वर्ग है

स्वस्थ रहो……व्यस्त रहो.
……. मस्त रहो……



Explore Motivational sms poems

ये रे ये रे पावसा
एडमिन देतो पैसा
त्याचा पैसा खोटा
ग्रुप झाला मोठा
येग येग पोरी
ग्रुप माझा भारी
ग्रुप गेला व्हावुन
कृष्ण आला धावून
उन्हाळा आता सरूदे
वर्षा ऋतु नांदुदे
ओल्या ओल्या मातिमधे
शेतकरी राजा हसूदे
👏👏वर्षा ऋतुचा आगमनाच स्वागत👏👏